प्याज खरीदने के लिए लगेगा आधार कार्ड

प्याज खरीदने के लिए लगेगा आधार कार्ड

प्याज के बढ़ते हुए दामों ने प्याज को इम्पोटेड बना दिया । हैदराबाद मे प्याज के गोदामों मे सीसीटीवी कमेरा लगाया गया है और किसी आईडी प्रूफ के आधार पर ही प्याज लोगो को बेची जा रही है इसका कारण ये है की कई जगहों पर राज्य सरकारें कम कीमतों मे प्याज की बिकवाली करवा रहीं है यह सब इसलिए की कोई भी आदमी तय की गई सीमा से ज्यादा प्याज न ले सके साथ ही प्याज की चोरी की भी घटने सामने आ रही हैं,

इतना ही नहीं लोगो मे पथराव और मारपीट तक बात पहुँच गई है, और सभी को प्याज मिल सके। प्याज की बढ़ती कीमत को लेकर लालू प्रसाद यादव ने मंगलवार को कहा, ''क्या बीजेपी शासित राज्यों में प्याज सस्ता है? बीजेपी सरकार लोगों को उल्लू बना रही है।'' एवम मध्य प्रदेश मे कांग्रेस गुरुवार को अरहर की दल और प्याज फ्री मे बाटेगी,ऐसा कांग्रेस प्रवक्ता के के मिश्रा ने बताया कि पार्टी की प्रदेश अध्यक्ष अरूण यादव के कहने पर इस जन आंदालन को जनता से सीधा जोड़ा जायेगा। उन्होंने कहा कि विदेशों से कालाधन वापस लाने, अच्छे दिन की शुरूआत करने और पूरे देश में महंगाई कम करने का वायदा करने वाली केंद्र सरकार ने इन मुद्दों पर न केवल मौन साध लिया है। देश को धोखा देने वाले इन लोगों के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज होना चाहिए।
 

प्याज कीमतों से राहत के लिए अभी सरकार कि कोशिशें विभिन्न राज्यों मे ये रही

विशाखा पट्टनम और तेलंगाना मे प्याज 20 रुपये तक भी बेचा गया। वहीं कोलकाता सरकारी स्टोर्स मे 50 रुपये किलो। और भारत म्यांमार बार्डर पर प्याज की कीमत 10 रुपये किलो है।