इस श्रावण बाबा महाकाल की निकलेगी कुल छः सवारी, सालो से चली आ रही परम्परा का होगा निर्वहन

उज्जैन: विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर में श्रावण के महीने में निकलने वाली सवारी का शिव भक्त पुरे साल इंतजार करते हैं और इतना ही नहीं भक्त अपने भगवान महाकाल का दर्शन करने दूर-दूर से उज्जैन पहुंचते है। आपको बता दे की सावन माह में निकलने वाली यह सवारी सावन माह का आनंद और बड़ा देती है। आम दिनों में उज्जैन आने वाले भक्तो की तुलना में सावन में भक्तो की संख्या में कई गुना इजाफा देखने को मिलता है। इस वर्ष सावन माह और भी ख़ास होने वाला है, आइये जानते क्या है सावन और क्यों है ये खास।

सावन माह में निकलने वाली सवारी:-
मिली जानकारी के अनुसार इस वर्ष बाबा महाकाल की कुल 6 सवारियां निकलने वाली है। जिसे देखने के लिए लाखो की संख्या में भक्त उज्जैन पहुंचने वाले है, आपको बता दे की हिन्दू पंचांग के अनुसार इन सभी छः सवारियों  में से 4 सवारिया सावन माह में निकली जाएगी और शेष बची 2 सवारी भादो माह में निकलेगी। यह सभी छः सवारिया प्रत्येक सोमवार को निकलेगी जो 18 जुलाई से शुरू हो कर 22 अगस्त तक आने वाले छः सोमवार को निकाली जाएगी। जो महाकाल मंदिर से शुरू हो कर उज्जैन नगर का भ्रमण कर हरसिद्धि माता मंदिर होते हुए, पुनः महाकाल मंदिर लौटेगी, आपको बता दे की हर साल की तरह इस साल भी महाकाल भक्त बाबा की पालकी का कई स्थानों पर स्वागत करेंगे।

सावन का महीना इस साल क्यों है खास?
ज्ञात हो की महाकाल परिसर में शासन द्वारा करोड़ो की लागत में महाकाल कॉरिडोर का निर्माण किया जा रहा है। जिसका काम जोरो पर चल रहा है, आपकी जानकारी के लिए बता दे की इस पुरे कॉरिडोर में बाबा महाकाल के कई रूपों का वर्णनन किया गया है, जो अपने आप में खास है, वहीं इस सावन माह में यदि इस कॉरिडोर को आम लोगो के लिए खोल दिया तो सावन की रौनक और भी बड़ जाएगी।

उत्तराखंड की कई सड़कें हुई अवरुद्ध, आमजन पर पड़ा भारी असर

मंडी कर्मचारी की सेवानिवृत्ति पर विदाई समारोह का आयोजन हुआ

ऐश्वर्या राय बचन का नया लुक हुआ वायरल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -