30,000 रुपये की रिश्वत लौटाते हुए पकड़ा गया शिक्षा अधिकारी

Oct 17 2020 11:30 AM
30,000 रुपये की रिश्वत लौटाते हुए पकड़ा गया शिक्षा अधिकारी

बीकानेर: आज के समय में रिश्वत लेना एक तरह से रिवाज बन चुका है। हर दूसरे या तीसरे व्यक्ति को रिवाज लेते हुए देखा जा रहा है। अब हाल में एक इसी से जुड़ा मामला सामने आया है। इस मामले को राजस्थान के बीकानेर का बताया जा रहा है। जी दरअसल बीकानेर में शिक्षा विभाग के एक अफसर ने परिवादी से काम के बदले रिश्वत ली थी लेकिन जब वह काम पूरा नहीं कर पाया या उससे काम पूरा नहीं हो सका तो परिवादी उस पर पैसा वापस करने के लिए दबाव बनाने लगा।

अब इस मामले में मिली जानकारी के तहत अधिकारी जैसे ही परिवादी को उसके पैसे लौटाने लगा, वैसे ही वो पकड़ा गया। इस मामले को बीकानेर स्थित शिक्षा विभाग के निदेशक कार्यालय का बताया जा रहा है। यहीं के एक ज्वाइंट लीगल एडवाइजर बद्रीनारायण व्यास को एसीबी ने रिश्वत के 30,000 रुपये लौटाते हुए पकड़ा है। डीआईजी डॉ विष्णुकांत का इस मामले में कहना है कि 'नागौर के मुंडवा मारवाड़ में अर्जुनराम जाट ने लिखित शिकायत की थी।'

उनके द्वारा की गई शिकायत में यह बताया गया था कि 'वह शिक्षा विभाग में पीटीआई के पद पर नियुक्त हुआ है। उसके खिलाफ पहले से चार आपराधिक प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन होने के कारण उसका मामला माध्यमिक शिक्षा निदेशालय में चल रहा था। निदेशालय के ज्वाइंट लीगल एडवाइजर व्यास ने उसके पक्ष में रिपोर्ट दर्ज करने के लिए 30,000 रुपये की राशि मांगी, जो उसने दे दी।' वहीं न्यायालय ने उसका प्रकरण खारिज कर दिया है और अब वो व्यास से अपने पैसे वापस मांगने लगा। उसके बाद जैसे ही व्यास उसके पैसे लौटाने लगा, वैसे ही एसीबी के अधिकारी ने व्यास को गिरफ्तार कर लिया।

पवन सिंह ने इस खूबसूरत एक्ट्रेस के साथ मचाया धमाल, वीडियो हो रहा है वायरल

महाराष्ट्र में हुई 4 सगे भाई-बहनों की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या

ताइवान और चीन के संबंध को लेकर हांगकांग ने कही ये बात