7 महिलाओ पर फेंका तेज़ाब, सरपंच ने पुलिस को ठहराया ज़िम्मेदार

पंजाब :  पंजाब के कपूरथला के बूई गांव मैं एसिड अटैक की घटना सामने आयी है. यहाँ एक 12 साल की बेटी और उसकी मां को निमार्ण स्थल पर काम को रोकने की कोशिश की और काम ना रुकने पर उन्होंने सरपंच की पत्नी सहित 6 महिला मजदूरो पर एसिड से अटैक कर दिया. फ़िलहाल मौके पर ही  घायलो को अस्पताल ले जाया गया है जिन मे से कुछ की मौत और कुछ का अस्पताल मे इलाज चल रहा है. गांव के सरपंच ने बताया कि इंग्लैंड में रहने वाले पंजाबी शख्स ने गांव की एक जमीन पर कब्जा किया हुआ था. यह मामला अदालत तक भी पहुंचा लेकिन वो केस हार गया. अब इस जमीन पर सरकारी ग्रांट की मदद से एक कम्यूनिटी हॉल बनाया जा रहा है. वही अब दूसरा परिवार इस जमीन पर अपना मालिकाना हक बता रहे हैं . बता दे कि इसी दूसरे परिवार ने इस पूरी घटना को अंजाम दिया है. फ़िलहाल पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही है.    
 26 साल की लेडीज डॅाक्टर 16 साल के लड़के के साथ बुझाती आ रही हवस की प्यास...


सूत्रों के हवाले से ज्ञात हुआ है कि इस अटैक मे आरोपी महिला के साथ साथ उनकी नाबालिग बेटी भी झुलस गई है तो वही पुलिस ने आरोपी पति, महिला,नबिलग बेटी,दादी के खिलाफ धारा 307 और 326 के तहत केस दर्ज किया है. इस घटना के बाद सरपंच ने बताया कि उन्होंने आरोपियों के खिलाफ सीएम बादल बात कई बार की थी. सीएम ने एसएसपी को कार्रवाई के आदेश दिए थे. उन्होंने एसएसपी को लिखित में शिकायत भी दी थी. सोमवार को जिस वक्त झगड़ा शुरु हुआ, उसी समय मेने एसएसपी को फोन किया लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया. इसके साथ सरपंच ने  पुलिस को घटना का जिम्मेदार मानते हुए कहा, अगर वक्त रहते पुलिस वहां आ जाती तो शायद यह हादसा नहीं होता.        

वही महिला का कहना है कि  तेजाब तो उनपर फेंका गया था. इस मामले में कोर्ट में केस चल रहा है और वह इस संबंध में एसएसपी को लिखित में शिकायत भी दे चुकी हैं. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है. पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आरोपियों के पास तेजाब कहां से आया. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक पहचान पत्र के बगैर तेजाब की खरीद-फरोख्त अपराध है.

नवेली दुल्हन के साथ पहली ही रात पति ने दिखाई हैवानियत, प्राइवेट पार्ट में डाल दिया..

तुम बहुत निर्दयी हो, मैं तुम्हें मार डालूंगा

Most Popular

- Sponsored Advert -