प्लेन के नीचे छिपकर की 6500 किमी की यात्रा, माइनस 60 डिग्री तापमान में भी बच गया जिन्दा

Jul 07 2019 02:41 PM
प्लेन के नीचे छिपकर की 6500 किमी की यात्रा, माइनस 60 डिग्री तापमान में भी बच गया जिन्दा

लंदन: पिछले सप्ताह लंदन के एक घर के बगीचे में अचानक एक शख्स का शव आसमान से गिरा. शव जमे हुए बर्फ की तरह दिखाई दे रहा था. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ये शव फ्लाइट की लैंडिग गियर की जगह पर छिपकर यात्रा कर रहे किसी शख्स का था. जांच के बाद पता चला कि यह शव केन्या एयरलाइन की फ्लाइट से गिरा है, जो केन्या से लंदन की तरफ जा रही थी. इसी बीच एक ऐसे शख्स की कहानी सामने आई है जो ऐसी ही यात्रा के बाद जिन्दा बच गया. 

विश्वभर में ऐसे कई वाकये हुए हैं जब लोगों ने फ्लाइट के निचले हिस्से में छिपकर सफर किया और मौत के शिकार हुए. किन्तु ऐसा बहुत कम हुआ है जब ऐसा करने वाला शख्स जिन्दा रहा. डेली मेली की रिपोर्ट के अनुसार, आज से 23 वर्ष पहले 1996 में परदीप सैनी नाम के व्यक्ति ने दिल्ली से ऐसी ही एक यात्रा की थी. सैनी आज लंदन में ड्राइवर के रूप में काम कर रहे हैं. 

लगभग 6500 किमी तक लैंडिंग गियर में यात्रा करने के बाद भी सैनी की जान सुरक्षित रही थी. इस दौरान ब्रिटिश एयरवेज की फ्लाइट 40 हजार फीट तक की ऊंचाई तक पहुंची और सैनी ने न के बराबर ऑक्सीजन और माइनस 60 डिग्री तक के तापमान का सामना किया. हालांकि, ड्राइविंग का कार्य करने वाले सैनी को उस यात्रा के बारे में अब कुछ याद नहीं, किन्तु वे उसे बेहद मुश्किल भरा बताते हैं. 

कराची स्थित भारतीय दूतावास पर अतिक्रमण की कोशिश, भारत ने दर्ज कराया विरोध

पाकिस्तान ने गाया पुराना राग- 'पाक में नहीं है अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम'

इस महीने के अंत तक इंटरनेशनल कोर्ट सुना सकती है कुलभूषण जाधव पर का फैसला