कानपूर के परिवारों के चेहरे पर पाकिस्तान से भेजे गए पत्र से लौंटी खुशी

Jan 31 2016 05:36 PM
कानपूर के परिवारों के चेहरे पर पाकिस्तान से भेजे गए पत्र से लौंटी खुशी

कानपुर: भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान से एक पत्र आया है जिसके बाद कानपुर के तीन परिवारों के चेहरे पर प्रसन्ना लौंट आई है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कानपूर में निवास करने वाले इन परिवारो के लोग पाकिस्तान की जेल में बंद है जिनका नाम संजय, जयचंद्र और रविशंकर हैं। यह तीनों लोग उत्तरप्रदेश के कानपुर के मोहम्मदपुर गांव के रहने वाले हैं तथा गुजरात में मछली पकड़ने का व्यवसाय करते थे , लेकिन बीते साल 16 अक्टूबर को इनकी नाव गलती से पाक सीमा में घुस गई जहां पाक सेना ने इन्हें बंधक बना लिया।

16 अक्टूबर के बाद से ही परिवार का तीनों से कोई संपर्क नहीं था। इनके परिवार की ओर से लगातार राज्य और केंद्र सरकार से अपील की जा रही थी, लेकिन इन्हें वापस लाने का कहीं से कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला।

इस बीच पाकिस्तान की मलीर जेल से इनको एक चिट्ठी मिली है, जिसमें तीनों ने अपने सकुशल होने की जानकारी दी है। तथा पाकिस्तान इस चिट्ठी के मिलने के बाद से अब परिवार एक नई ताकत के साथ राज्य और केंद्र सरकार से इन्हें छुड़ाने की पैरवी करने की तैयारी में हैं।