ब्याजखोरों से तंग आकर कारोबारी ने की ख़ुदकुशी, सुसाइड नोट में लिखे इनके नाम

Jan 20 2021 04:10 PM
ब्याजखोरों से तंग आकर कारोबारी ने की ख़ुदकुशी, सुसाइड नोट में लिखे इनके नाम

जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर में सूदखोरों का आतंक सर चढ़ कर बोल रहा है और इसी के कारण कारोबारियों के आत्महत्या की मामले सामने आ रहे हैं। पिछले दिनों ब्याजखोरों से तंग होकर वैशाली नगर में पत्नी व दो मासूम बच्चों की हत्या के बाद एक सब्जी विक्रेता ने आत्महत्या कर ली थी। वहीं, अब जयपुर के सांगानेर इलाके में 60 साल के एक ज्वैलरी कारोबारी ने सूदखोरों की धमकियों से तंग आकर  मंगलवार शाम को विषाक्त गोलियां खाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। 

सांगानेर पुलिस की प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक, ख़ुदकुशी करने वाले ज्वैलरी कारोबारी का नाम कैलाश खंडेलवाल है। वे न्यू सांगानेर रोड मानसरोवर स्थित मंगलम आनंदा में अपने परिवार संग रहते थे। साथ ही कैलाश की जौहरी बाजार में ज्वैलरी शॉप थी।  बताया जा रहा है कि कैलाश ने कुछ लोगों से ब्याज पर पैसे लिए थे। इस राशि को उन्होंने ब्याज सहित चुका भी दिया था। इसके बाद भी ब्याज माफिया और सूदखोर उन्हें और पैसे देने के लिए तंग कर रहे थे। इसके चलते कैलाश ने मंगलवार शाम को टोंक रोड पर होटल थीम के बाहर खड़े होकर जहर खाकर सुसाइड कर लिया। 

परिजनों ने पुलिस को बताया कि कैलाश सोमवार की सुबह बगैर किसी को बताए घर से चले गए थे। उन्होंने देर रात को अपने समधी को फोन कर चर्चा की थी। जिसमें मंगलवार सुबह वापस लौट आने की बात कही थी। मंगलवार दोपहर बाद आत्महत्या से पहले कैलाश ने अपने परिवार के सभी सदस्यों को मोबाइल फोन पर एक SMS भेजा। जिसमें लिखा था, 'मैं जीना चाहता हूं लेकिन ब्याज माफियाओं ने इतना परेशान कर दिया है कि मैं अब जी नहीं सकता।' 

कारोबारी ने मौत से पहले एक सुसाइड नोट भी लिखा था। जिसमें उन्हें ब्याज के लिए तंग करने वाले आठ लोगों के नाम लिखे है। पुलिस ने सुसाइड नोट बरामद कर लिया है। वहीं, कारोबारी की लाश को जयपुरिया अस्पताल की मॉर्चरी में रखवाया गया है और आज यानी बुधवार को पोस्टमार्टम किया जाएगा। साथ ही मामले में परिजनों का इल्जाम है कि, कई थानों के चक्कर काटने के बाद मंगलवार रात को सांगानेर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

कातिलाना हमले के आरोपी के सामने रखी अनोखी शर्त, हामी करने पर किया रिहा

नितीश राज में अपराधी बेख़ौफ़, अब कोर्ट जा रहे मुंशी को दिनदहाड़े मारी गोली, मौत

उत्तराखंड: कुम्भ मेले के लिए लगी पुलिसकर्मियों की ड्यूटी, अपराध रोकना बनी चुनौती