विश्व बैंक से मोदी को मिली शाबाशी

वाशिंगटन : देश के सभी गांवों तक बिजली पहुंचाने का दावा करने वाली मोदी सरकार के इस काम को अच्छा बताते हुए विश्व बैंक ने न केवल प्रशंसा की, बल्कि इसे मोदी के दावे से भी आगे का काम बताया है.

उल्लेखनीय है कि विश्व बैंक द्वारा इस सप्ताह जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि 2010 से 2016 के बीच भारत ने प्रतिवर्ष 3 करोड़ लोगों को बिजली उपलब्ध कराई है . विश्व बैंक ने तो यहां तक कहा कि बिजली पर काम सरकार के दावे से भी ज्यादा अच्छा हुआ है. 

इस बारे में विश्व बैंक की लीड एनर्जी इकॉनमिस्ट विवियन फोस्टर ने बताया कि भारत में 85 फीसदी जनसंख्या तक बिजली पहुंच चुकी है. यह आंकड़ा भारत सरकार के दावे से अधिक है. जबकि सरकार अभी 80 फीसदी घरों में ही बिजली पहुंचने की बात कह रही है.फोस्टर ने कहा कि पूरी दुनिया के विद्युतीकरण के 2030 के लक्ष्य तक भारत शेष आबादी तक भी बिजली पहुंचाने में सफल हो जाएगा.इस रिपोर्ट में बांग्लादेश और केन्या में विद्युतीकरण की गति भारत से ज्यादा बताई गई है. स्मरण रहे कि हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सभी गांवों के विद्युतीकरण की घोषणा की थी. सरकार अब सौभाग्य योजना के तहत हर घर तक मुफ्त बिजली पहुंचा रही है.

यह भी देखें

2025 तक दुगुनी होगी भारत की अर्थव्यवस्था

भारत को हर साल 81 लाख नौकरियों की दरकार : विश्व बैंक

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -