जब अमेठी में विरोधियों के निशाने पर आई बीजेपी

जब अमेठी में विरोधियों के निशाने पर आई बीजेपी

अमेठी : कभी -कभी राजनीति में पांसा उल्टा भी पड़ जाता है, जिससे शर्मिंदगी उठानी पड़ती है. लगभग ऐसे ही हालातों से बीजेपी को अमेठी में गुजरना पड़ा.जब जिन योजनाओं का शुभारम्भ कर विपक्ष की आलोचना की उन्हीं पत्थरों पर विपक्षी विधायक का नाम था. आखिर उस नाम पर कालिख पोतकर मामले से बचने की कोशिश की गई.

उल्लेखनीय है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सीएम योगी के साथ मंगलवार को अमेठी के पास कौहार में करोड़ों की जिन योजनाओं का उद्घाटन कर कांग्रेस और गांधी परिवार पर हमले किए. बुधवार को खुद उन्हीं की पार्टी अपने ही कारनामों के कारण विपक्ष के निशाने पर आ गई .

 बता दें कि इस बड़े आयोजन में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष समेत यूपी सरकार के मंत्रियों का जमघट लगा था .सभीने विकास के मुद्दे पर विपक्ष ख़ास तौर से राहुल को कोसा.

जिन 7 परियोजनाओं का लोकार्पण और 5 का शिलान्यास किया गया. सपा सरकार पर सीएम ने तंज कसे उसी सपा पार्टी के विधायक राकेश सिंह मऊ का नाम शिलापट के पत्थर से कालिख पोतकर मिटाया गया. गौरीगंज के सपा विधायक राकेश सिंह को तो इस कार्यक्रम का न्योता भी नहीं दिया गया.न्योता मिलने पर भी वे नहीं जाते. जो भी हो इस मामले से बीजेपी की किरकिरी तो हो ही गई.

यह भी देखें

राहुल गांधी ने अमेठी का बंटाढार कर दिया : अमित शाह

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी आज से अमेठी दौरे पर

 

क्रिकेट से जुडी ताजा खबर हासिल करने के लिए न्यूज़ ट्रैक को Facebook और Twitter पर फॉलो करे! क्रिकेट से जुडी ताजा खबरों के लिए डाउनलोड करें Hindi News App