ये है भारत का दूसरा गोल्डन टेम्पल, जिसे देख हैरान रह जायेंगे

ये है भारत का दूसरा गोल्डन टेम्पल, जिसे देख हैरान रह जायेंगे

भारत में कई मंदिर हैं जो दुनियाभर में प्रचलित हैं और उन जगहों पर जाना लोग भाग्यशाली भी मानते हैं. आज हम ऐसे ही एक मंदिर की बात करने जा रहे हैं जिसके बारे में आपको शायद ही पता होगा. वैसे तो कई बड़े मंदिरों को बनाने के लिए कहीं ना कहीं सोने का इस्तेमाल किया गया है. आपने स्वर्ण मंदिर भी देखा ही होगा और दक्षिण के बालाजी मंदिर को भी देखा ही होगा जिसके निर्माण में काफी सोने का इस्तेमाल किया गया है. इनके अलावा एक और मंदिर के बारे में हम बताने जा रहे हैं जिसके बारे में सुनकर आप हैरान रहने वाले हैं.

हज़ारों वॉल्ट करंट भी है इस लड़के पर बेअसर

दरअसल, ये मंदिर दक्षिण भारत का स्वर्ण मंदिर है जो माँ लक्ष्मी का मंदिर है. इसे पूरी दुनिया में जाना जाता है और इसके निर्माण की चर्चा विश्वभर में है. आपको बता दें इसमें खास ये है कि इसे बनाने में पूरे 15 हजार शुद्ध किलो सोने का प्रयोग किया गया है. ये कहा जा सकता है कि ये दुनिया का पहला मंदिर है जो इतने सोने से बना है. इस मंदिर को बनाने में 300 करोड़ रूपए से भी ज्‍यादा धन लगा है. इतना ही नहीं मंदिर सोने का बना है तो माँ लक्ष्मी की मूर्ति भी 70 किलों के ठोस सोने से बनी है. 

100 साल की हथिनी के साथ होगा ये खास काम

दक्षिण भारत का महालक्ष्मी मंदिर करीब 100 एकड़ से भी ज्यादा के क्षेत्र में फैला हुआ है. मंदिर के आस-पास हरियाली ही दिखाई देगी क्योंकि इसके चारों ओर पेड़ ही पेड़ लगे हुए हैं. इसके अलावा यह भारत का पहला मंदिर है जहां तिरंगा फहराया जाता है और सभी जाति और धर्म के खुला रहता है.

देख भाई देख..

जानवरों की अश्लील वीडियो देख शख्स कर रहा था कुछ ऐसा कि..

हमेशा ही उबलता रहता है इस नदी का पानी

?