परमाणु समझौते की सच्चाई परखने उत्तर कोरिया जाएंगे माइक पोम्पिओ

परमाणु समझौते की सच्चाई परखने उत्तर कोरिया जाएंगे माइक पोम्पिओ

वाशिंगटन: संयुक्त राज्य अमेरिका के राज्य सचिव माइक पोम्पिओ ने गुरुवार को घोषणा की कि वे उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम को खत्म करने पर चर्चा के लिए अगले सप्ताह उत्तरी कोरिया जाएंगे. यह घोषणा उत्तरी कोरिया के अमेरिकी विशेष प्रतिनिधि के रूप में फोर्ड उपाध्यक्ष स्टीफन बिगन की नियुक्ति के बाद की गई है. उत्तर कोरिया की यात्रा पर बिगन भी पोम्पिओ के साथ होंगे.

सिंगापुर को नहीं भाया इस भारतीय का देश प्रेम

पोम्पिओ ने अपनी यात्रा के बारे में बताते हुए कहा है कि बिगन उत्तर कोरिया के सामने अमेरिका का प्रतिनिधित्व करेंगे, साथ ही अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के लक्ष्य अनुसार उत्तर कोरिया के पूरी तरह परमाणु कार्यक्रम बंद करने की जांच भी करेंगे. उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया की यात्रा हमारे उद्देश्य के प्रति एक राजनितिक कदम है, जिसका लक्ष्य उत्तर कोरिया के परमाणु परिक्षण पर पूरी तरह लगाम लगाना है. हालांकि, माइक ने उत्तर कोरिया की यात्रा की तिथि के बारे में स्पष्टीकरण नहीं दिया है.

ईरान के यू ट्यूब चैनल्स पर गूगल ने कसी नकेल, कहा नीतियों का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं

आपको बता दें की पोम्पिओ चौथी बार उत्तर कोरिया की यात्रा पर जाएंगे, इससे पहले जुलाई में उन्होंने कोरिया के श्रमिक पार्टी की केंद्रीय समिति के उपाध्यक्ष, किम योंग-चोल के परमाणु कार्यक्रम के निरस्तीकरण पर बैठक की थी. इससे पहले जून में सिंगापुर में डोनाल्ड ट्रम्प और किम जोंग उन ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे, जिसके तहत उत्तर कोरिया ने परमाणु कार्यक्रम बंद करने पर सहमति जताई थी. 

खबरें और भी:-​

अमेरिका और चीन के बीच व्यापार को लेकर बढ़ी तल्खियां

केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए हर तरह की मदद को तैयार पाकिस्तान - इमरान खान

इमरान सरकार का बड़ा फैसला, सरकारी टीवी और रेडियो पर लगी सेंसरशिप हटी