जमाल खशोगी मामले में अमेरिका हुआ सख्त, निष्पक्ष जांच पर दिया जोर

वाशिंगटन: सऊदी अरब में बीते दिनों हुई जमाल खशोगी की मौत के बाद हालात अब और भी ज्यादा गर्मा गए हैं। जहां एक ओर अमेरिका ने खशोगी की मौत पर चिंता व्यक्त की है। वहीं दूसरी ओर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग ने तुर्की में मारे गए सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी के मामले में निष्पक्ष जांच पर जोर दिया है। 

मानव अवशेष मिलने से वेटिकन में मची खलबली, पुलिस कर रही जांच

आयोग ने स्पष्ट रूप से सऊदी प्रशासन से कहा है कि वह बिना किसी लापरवाही के जल्द से जल्द ये बताए कि पत्रकार खशोगी का शव कहां है। यहां बता दें कि सऊदी अरब में खशोगी को अंतिम बार तुर्की में स्थित सऊदी वाणिज्य दूतावास में प्रवेश करते देखा गया था। जहां फिर कई दिनों बाद पत्रकार की मौत होने की पुष्टि की गई थी। वहीं मानवाधिकार आयोग प्रमुख मिशेल बैशलेट ने जानकारी देते हुए कहा कि खशोगी के मानवाधिकार हनन की पूरी जांच और इस घटना की जिम्मेदारी तय की जायेगी। 

भारतीय ने किया अमेरिकी विवि पर साइबर हमला, लगा 86 लाख डॉलर का जुर्माना

गौरतलब है कि जमाल खशोगी की मौत के बाद अमेरिका ने इस ओर कड़ी कार्रवाई करने का मन बनाया है। यहां बता दें कि यह घटना सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में हुई है, इसलिए इसमें जांच का उच्च स्तर बनाए रखना होगा और हैरान कर देने वाली इस जघन्य अपराध की घटना के लिये जवाबदेही तय करनी होगी और न्याय सुनिश्चित करना होगा। वहीं इस मामले में सऊदी अरब का नाम आने के बाद उसने इस पर विरोधी बयान दिये हैं। यहां बता दें कि अरब सरकार पर खशोगी के शव की जानकारी मुहैया कराने पर गहरा दबाव है। पहले सऊदी अधिकारियों ने कहा था कि खशोगी दो अक्टूबर को वाणिज्य दूतावास से बाहर आया था लेकिन बाद में उन्होने स्वीकार किया कि वह एक झगड़े में मारा गया। 


खबरें और भी 

मोदी जैकेट पाकर खुश हुए दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति, कहा ये बिलकुल फिट है

डोनाल्ड ट्रम्प का नया नियम, अमेरिका में जन्म लेने वालों को भी नहीं मिलेगी नागरिकता

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति को पसंद आई मोदी जैकेट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -