हेयर फॉल से बचने का नया तरीका

May 14 2015 02:55 AM
हेयर फॉल से बचने का नया तरीका

महिला हो या पुरुष, दोनों में धूप, धूल, प्रदूषण, गलत खानपान की वजह से बालों के झड़ने की समस्या आम बात हो गई है. इसके साथ ही हेयर फॉल के कारण आनुवंशिक, तनाव, बालों की अच्छे से देखभाल न करना, कई प्रकार की दवाएं और उनका ट्रीटमेंट भी हो सकते हैं. वैसे तो इस समस्या को रोकने के लिए बहुत सारे उपाय मौजूद हैं, लेकिन पीआरपी ट्रीटमेंट हाल ही में इस समस्या से निपटने का नया तरीका है, जिसे विदेशों में ही नहीं अब इंडिया में भी इस्तेमाल किया जा रहा है. इसकी सबसे अच्छी बात है कि इसमें किसी प्रकार की कोई सर्जरी नहीं होती.

इसके चलते साइड इफेक्ट का भी कोई खतरा नहीं होता. पीआरपी ट्रीटमेंट को प्लेटलेट्स रिच प्लाज्मा ट्रीटमेंट के तौर पर जाना जाता है. इसके लिए जिस व्यक्ति का इलाज किया जाता है, उसका ही ब्लड उपयोग में लाया जाता है. इसे कुछ समय के लिए रखा जाता है जिससे प्लेटलेट्स के साथ प्लाज्मा ट्यूब में इकट्ठा हो सके. इसमें ग्रोथ फैक्टर्स की मात्रा बहुत ज्यादा होती है जिसे टिश्यू के बनने, पुराने खराब टिश्यू को ठीक करने के लिए उपयोग किया जाता है.

पीआरपी में नॉर्मल ब्लड की तुलना में 5 गुना अधिक प्लाज्मा होता है. ट्रीटमेंट को प्लेटलेट्स द्वारा घावों के भरने में किया जाता है, इसलिए इनका इस्तेमाल झड़ते बालों के लिए किया जाता है. एक बार में 20 एमएल ब्लड लिया जाता है जिसमें से प्लेटलेट्स को अलग करने के बाद एक्टिवेटर मिलाया जाता है, जो प्लेटलेट्स को एक्टिवेट करने का काम करते हैं. जिससे जहां हेयर लॉस हो रहा है, वहां ये बेहतर तरीके से काम कर सके. और आप घने बाल प्राप्त कर सके.

 

?