जन्मदिन विशेष : सुचित्रा सेन, फ़िल्मी दुनिया का एक अनमोल रत्न

Apr 06 2015 01:57 AM
जन्मदिन विशेष : सुचित्रा सेन, फ़िल्मी दुनिया का एक अनमोल रत्न
हिंदी सिनेमा क्षेत्रीय फिल्मों से शुरूआत कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने वाली अभिनेत्री सुचित्रा सेन का आज जन्मदिन है. आज ही के दिन 6 अप्रैल 1931 को तत्कालीन बंगाल में जन्म लेने वाली सुचित्रा सेन ने विवाह के बाद फिल्मों में पर्दापण किया. उनकी पहली फिल्म "शेष कोथाय" थी, लेकिन उनकी यह फिल्म प्रदर्शित नहीं हो सकी.

इसके बाद उन्होंने "सारे चतुर" में उत्तम कुमार के साथ डेब्यू किया. फिल्म जबरजस्त हिट हुई. इसके बाद उन्होंने कई अन्य फिल्मों में काम कर अपनी पहचान बनाई. वर्ष 1947 में उनका विवाह बंगाल के जाने-माने उद्योगपति अदिनाथ सेन के पुत्र दीबानाथ सेन से हुआ. उन्होंने शरतचन्द्र उपाध्याय के उपन्यास पर आधारित हिन्दी फिल्म "देवदास" में दिलीप कुमार के साथ जोड़ी बनाई.

इस फिल्म से उन्होंने दर्शकों को दिल जीत लिया. इनके अतिरिक्त उन्होंने देवानंद के साथ "बंबई का बाबू" और संजीव कुमार के साथ "आंधी" की. "आंधी" में उन्होंने एक ऎसे नेता की भूमिका निभाई, जो अपने पिता के प्रभाव में राजनीति में कुछ इस कदर रम गई कि अपने पति से अलग ही रहने लगी. इस फिल्म को कुछ दिनों के लिए प्रतिबंधित भी कर दी गई. बादमें जब यह प्रदर्शित हुई तो इसने बॉकस ऑफिस पर अपर सफलता पाई. इस फिल्म के लगभग सभी गीत उन दिनों काफी मशहूर हुए थे.

सुचित्रा सेन के अंतिम बार वर्ष 1978 में प्रदर्शित बंगला फिल्म "प्रणोय पाश" में अभिनय किया. इसके बाद उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री से संन्यास ले लिया और रामकृष्ण मिशन की सदस्य बन गई और सामाजिक कार्य करने लगी. वर्ष 1972 में सुचित्रा सेन को उनके कार्यो के लिए पदमश्री पुरस्कार दिया गया. अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के बीच खास पहचान बनाने वाली सुचित्रा सेन 17 जनवरी 2014 को इस दुनिया को अलविदा कह गई.

?