राजस्थान चुनाव में हो सकता पलटवार इतिहास बदलेगी भाजपा या कांग्रेस बनाए रखेगी दस्तूर

राजस्थान चुनाव में हो सकता पलटवार इतिहास बदलेगी भाजपा या कांग्रेस बनाए रखेगी दस्तूर

जयपुर: देश में चल रहे विधानसभा चुनाव में राजस्थान और तेलंगाना में मतदान हो रहा है। जानकारी के अनुसार बता दें कि राजस्थान में शुक्रवार को मतदान होगा और राजनीतिक पार्टियों और प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला मतपेटियों में बंद हो जाएगा। वहीं बता दें कि प्रदेश में ढाई दशक से हर पांच साल में सरकार बदलने का इतिहास तोड़ते हुए भाजपा सत्ता में रहेगी या कांग्रेस इस दस्तूर को बरकार रखते हुए सत्ता हासिल करेगी। 

राजस्थान/तेलंगाना चुनाव: कहीं एक तो कहीं दो घंटे देरी से शुरू हुआ मतदान, जानिए कहाँ-कहाँ आई ईवीएम में खराबी

वहीं बता दें कि इसका फैसला राजस्थान सहित पांचों राज्यों की मतगणना के दिन 11 दिसंबर को हो जाएगा। इसके साथ ही बता दें कि इस चुनाव में भाजपा द्वारा घोषित सीएम चेहरे मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और मंत्री राजेंद्र राठौड़, अरुण चतुर्वेदी, राजपाल सिंह शेखावत, वासुदेव देवनानी, एक मात्र मुस्लिम प्रत्याशी यूनुस खान जैसे प्रत्याशियों की और कांग्रेस में सीएम पद के दावेदार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व दो बार मुख्यमंत्री रहे अशोक गहलोत, पूर्व केंद्रीय मंत्री सी.पी. जोशी, डॉ. गिरिजा व्यास, विदेश मंत्री जसवंत सिंह के बेटे विधायक मानवेंद्र सिंह सहित कई नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर है।

चुनाव मैदान में उतरे अकबरुद्दीन ओवैसी के खिलाफ पहलवान ईसा

गौरतलब है कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए इस विधानसभा चुनाव को सत्ता का सेमीफाइनल माना जा रहा है। वहीं बता दें कि कांग्रेस और भाजपा दोनों की पार्टियां पूरी ताकत झोंककर लोकसभा के परिणाम को अपने पक्ष में करना चाहती हैं। साथ ही राजस्थान में विधानसभा की 200 सीटें हैं, लेकिन अलवर की रामगढ़ सीट से बसपा उम्मीदवार की मृत्यु होने से इस सीट पर चुनाव स्थगित कर दिया गया है, राजस्थान में शुक्रवार को 199 सीटों पर मतदान होगा। 


खबरें और भी

राजस्थान चुनाव: परिजनों की गोद में बैठकर मतदान करने पहुंची ये 105 वर्षीय महिला

तेलंगाना चुनाव: बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा का नाम हुआ मतदाता सूची से गायब

राजस्थान चुनाव: शरद यादव द्वारा 'बहुत मोटी' कहे जाने पर भड़की वसुंधरा, दिया करारा जवाब