इस तेल से रोकिए बहती नाक को

इस तेल से रोकिए बहती नाक को

ज़ुकाम या नज़ला एक संक्रामक रोग है जो वायरस के संपर्क में आने से हो जाता है. ज़ुकाम में नाक बहना आम बात है पर इसके कारण कभी-कभी आपको शर्मिंदगी जैसा महसूस करना पद सकता है. तो आज हम लाये है आपके लिए एक ऐसा घरेलू उपचार जिसका प्रयोग आसानी से कर सकते है और इससे आपको ज़ुकाम में बहुत रहत भी मिलेगी. आइये जानते है वो कौनसी चीज़े है जिनका प्रयोग करके आप अपनी इस परेशानी से मुक्ति पा सकते है. 

क्या आप जानते है कि लैवेंडर के तेल में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो संक्रमण का इलाज करते हैं. वहीं पेपरमिंट तेल में मेंथोल होता है जो छाती को डीकंजेस्ट करता है और बलगम को पतला कर देता है. जब बलगम पतला हो जाता है, तो उसे शरीर से निकालने में आसानी होती है.इससे आपको सर्दी ज़ुकाम में आराम मिलता है. 

सामग्री –

- तीन बूँद पेपरमिंट तेल
- पांच बूँद लैवेंडर तेल

विधि –

सबसे पहले दोनों तेल को एक साथ मिला लें.
मिलाने के बाद इसे छाती, गर्दन और नाक के ऊपर लगाएं.
लगाने के बाद तेल को ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें.
इस प्रयोग को पूरे दिन में दो से तीन बार दोहराएं.

ऑफिस के कंप्यूटर में भूलकर भी ना करें ये चार काम

कैल्शियम की कमी को पूरा करते हैं ये आहार

निम्बू पानी भी पहुंचा सकता है आपकी सेहत को नुकसान

हमेशा होने वाली थकान को ना करें नजरअंदाज, हो सकती हैं ये बीमारियां

 

?