प्रवीण तोगड़िया को पद छोड़ना होगा

नई दिल्ली : अपने बगावती बयानों से सरकार और पीएम पर निशाना साधने वाले विहिप के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया के व्यवहार को संघ ने पसंद नहीं किया है.इसलिए अब उनकी विदाई तय मानी जा रही है.संघ ने निर्देश दिया है कि तोगड़िया और विहिप के अध्यक्ष राघव रेड्डी स्वेच्छा से अपने पद छोड़ दें.यदि ऐसा नहीं हुआ तो इन्हें हटाने से गुरेज नहीं किया जाएगा.

संघ के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार तोगड़िया, रेड्डी सहित अनुषांगिक संगठनों के कुछ अन्य पदाधिकारियों को पद छोड़ने के निर्देश दिए जा चुके हैं. वैसे भी इनका कार्यकाल पहले ही पूरा हो चुका था लेकिन निर्देश का पालन करने के बजाय इन्होने शक्ति प्रदर्शन कर दबाव बनाया है. विशेषकर तोगड़िया के बगावती सुर और पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ सीधे हमले से संघ बहुत नाराज है. गुजरात विधानसभा चुनाव के समय भी तोगड़िया की विद्रोही भूमिका से संघ पहले ही नाराज है.

आपको बता दें कि संघ ने फरवरी माह के आखिर तक भारतीय मजदूर संघ, भारतीय किसान संघ सहित कुछ अन्य अनुषांगिक संगठनों के नेतृत्व में परिवर्तन करने की तैयारी कर ली है. संघ मिशन 2019 के लिए अनुषांगिक संगठनों में सरकार विरोधी रुख को खत्म करना चाहता है.संघ अब भी चाहता है कि विवाद खत्म करने के लिए ये सभी नेता स्वेच्छा से अपना पद त्याग दें. ऐसा नहीं होने पर संघ इन्हें पद से हटाने की कार्रवाई खुद करेगा.

यह भी देखें

तोगड़िया की किताब में चौंकाने वाले खुलासे

मामला वापस होने के बाद कैसे जारी हुआ तोगड़िया का वारंट ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -