नागालैंड चुनाव के सियासी समीकरण

नई दिल्ली : मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ए के ज्‍योति ने कल गुरुवार को त्रिपुरा, मेघालय और नगालैंड में होने वालेे विधानसभा चुनावों की घोषणा कर दी. चुनाव कार्यक्रम अनुसार 18 फरवरी को पहले चरण में त्रिपुरा जबकि 27 फरवरी को दूसरे चरण में मेघालय और नगालैंड में होगा मतदान. इन तीनों राज्यों के विधानसभा चुनावों के परिणाम 3 मार्च को घोषित होंगे.खास बात यह है कि इन तीनों राज्यों में विधानसभा की 60-60 सीटें है.

बता दें कि दूसरे चरण में नगालैंड विधानसभा चुनाव की अधिसूचना 31 जनवरी को जारी होगी. नामांकन की अंतिम तिथि सात फरवरी, नामांकन पत्रों की जांच आठ फरवरी और नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 12 फरवरी है. नगालैंड में विधानसभा की 60 सीटों के लिये 27 फरवरी को मतदान होगा.परिणाम 3 मार्च को घोषित होंगे . नगालैंड में नागा पीपुल्स फ्रंट की सरकार है और उसे बीजेपी का समर्थन मिला हुआ है.

उल्लेखनीय है कि नगालैंड में  नागा पीपुल्‍स फ्रंट (एनपीएफ) की सरकार सत्‍ता में हैं. यहां बीजेपी छोटे साझेदार की भूमिका में है. अब बीजेपी राज्य में अपना विस्तार चाहती है . इसलिए उसने अपने गठबंधन के विकल्प खुले रखे हैं, यहां कांग्रेस की हालत खस्ता है. पिछले एक साल में दो बार मुख्यमंत्री के बदलने से एनपीएफ के आंतरिक झगड़े का लाभ बीजेपी उठाना चाहती है. नागालैंड के पूर्व मुख्यमंत्री और लोकसभा सांसद नीईफू रियो ने भी एक नई पार्टी बना ली है, जो एनपीएफ से गठबंधन तोड़कर बीजेपी के साथ हाथ मिलाने की संभावना है.

यह भी देखें

नागालैंड में चुनाव लड़ने की तैयारी में जेडीयू

आठ राज्यों में विधानसभा चुनाव : होगी सियासी उथल-पुथल

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -