16 की उम्र में तू जोबन का बोझ उठारी, मीठी 'पान की सुपारी'

Sep 07 2018 09:30 PM
16 की उम्र में तू जोबन का बोझ उठारी, मीठी 'पान की सुपारी'

सोनू खुडानिया और स्वीटा डागर की संयुक्त आवाज़ में 'पान की सुपारी' हरियाणवी गीत अल्का म्यूजिक में प्रस्तुत़ किया गया हैं. इस गीत के बोल दीप काला नोरिया द्वारा लिखे गए हैं. वहीं म्यूज़िक कंपोजिंग देसी क्रेज ने की हैं. पवन वर्मा द्वारा निर्देशित इस गाने में पवन वर्मा और अल्का शर्मा अहम रोल में होंगे. 

इस गाने में दिखाया गया है कि गौरी के रूप रंग को देखकर एक आशिक उसका दीवाना सा हो गया हैं और उसकी मीठी-मीठी बोली आशिक को पान की सुपारी की तरह ही मीठी लग रही हैं. कई आशिक अपना काम काज छोड़ गली में उसके आने का इंतजार करते रहते हैं और उसकी तिरछी नजर ने आशिको का दिल लूट रखा हैं. 

Paan Ki Supari Song Lyrics
 
तेरी सोलह उम्र तू जोबन का बोझ उठारी
तेरे मीठे मीठे बोल जणू पान की सुपारी

मीठी बोली मरजाने तेरे दिल पे पड़े भारी
मैं ओढू पहरु खास घणा तेरे क्या ते आफत आरी

ये शक्कर बरगी लागे सै जलेबी ये तेरी मीठी
जान काडले छोरा की जोबन भरी अगटी
तू थोड़ी मुस्कुरावे लागे कड़ाई सै म्हारी
तेरे मीठे मीठे बोल जणू पान की सुपारी

दो की चार बनाके ने तू घणी बड़ाई मारे ना
मैं जानू सु तेरी बाता ने घणी दिल में फोटू उतारे ना
तू सैंडल खाके मानेगा तेरी उतरेगी बीमारी
मैं ओढू पहरु खास घणा तेरे क्या ते आफत आरी.

यह भी पढ़ें...   

फूल सी बहू से बोला पिया, बुझा दे दिया

'सुई-धागा' से पहले 'धागा' ने लगाई आग, तेजी से पसंद कर रहे हैं फैंस

'नास्तिक' ने तैयार किया लवर्स के लिए बेहतरीन सॉन्ग, प्रेम रोगी...

'एंडी भाभी' के आगे सब पड़े फीके, देखके सेटिंग मन ललचावे मेरा

?