जलवायु परिवर्तन के कारण खतरे में समुद्री घोंघों का जीवन

जलवायु परिवर्तन के कारण खतरे में समुद्री घोंघों का जीवन

लंदन : ब्रिटेन और जापान में अम्लीय समुद्रों में रहने वाले घोंघों के लिए अब जिंदा रहना बहुत मुश्किल साबित होता जा रहा है. ब्रिटेन और जापान में ऐसा ही कुछ हाल देखने को मिल रहा है. इस पर विश्वविद्यालयों ने जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त रूप से अध्ययन किया जिसमें ये सामने आया कि यहां के जलवायु परिवर्तन के कारण समुद्र का पानी अम्लीय हो रहा है और इसी वह से घोंघों की परेशानी बढ़ती जा रही है और उनका जिन्दा रहना  मुश्किल हो रहा है. 

अब यूरोपीय अंतरिक्षयान बुध के बारे में देगा जानकारी,

जानकारी के अनुसार बता दें, ब्रिटेन के प्लाइमौथ विश्वविद्यालय और जापान के सुकुबा विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं ने समुद्र के पानी में बढ़ रहे कार्बन डाईऑक्साइड (सीओ2) के बड़े आकार वाले समुद्री घोंघों (शंख) की खोल अध्ययन किया और ये पता किया कि उन पर क्या असर पड़ रहा है. इस अध्ययन में रेसर्चेर्स ने यही पाया कि पानी में सीओ2 की मात्रा अधिक होने से घोंघों की खोल पर काफी असर पड़ रहा है. 

माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर का 65 वर्ष में निधन

सीओ2 की अधिक मात्रा होने से पानी ख़राब हो रहा है जिसके कारण घोंघों का खोल घुल रहा है. इस अध्ययन का निष्कर्ष फ्रंटियर्स इन मरीन साइंस नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है. रेसर्चेर्स ने पर चेतावनी भी दी है कि इसी तरह खोल वाले अन्य जीव पर प्रभावित हो रहे हैं जिससे उनकी जान को खतरा बना रहा है. इसी पर वहां के सहायक प्रोफेसर बेन हार्वे ने कहा कि समुद्र में इस तरह का अम्लीयकरण समुद्री जीव के लिए खतरे का कारण है जिसके लिए उचित कदम उठाने होंगे.

खबरें और भी...

हंगरी सरकार ने सड़कों पर सोना किया बैन

हिन्दू सरनेम नहीं लगा तो वैज्ञानिक के साथ गरबा में हुआ भेदभाव