Movie Review: तीन अजनबियों के अनोखे रिश्ते की कहानी है कारवां

Aug 03 2018 10:05 AM
Movie Review: तीन अजनबियों के अनोखे रिश्ते की कहानी है कारवां

फिल्म

'कारवां'

डायरेक्टर

आकर्ष खुराना

स्टार कास्ट

इरफ़ान , दुलकर सलमान, मिथिला पालकर, कृति खरबंदा

अवधि

2 घंटा

सर्टिफिकेट

U/A

रेटिंग

3.5 स्टार

कहानी - फिल्म की कहानी एक लड़के अविनाश (दुलकर सलमान) से शुरू होती है. सबसे पहले अविनाश (दुलकर सलमान) को एक कॉल आता है जहाँ उसे यह बताया जाता है कि उसके पिता की मौत हो गई है. बाद में कोरियर कम्पनी के द्वारा अविनाश को उसके पिता की बॉडी की जगह किसी ओर की बॉडी दे दी जाती है. किसी ओर की बॉडी देखकर अविनाश को धक्का लगता है ओर वह अपने पिता की बॉडी की तलाश में अपने दोस्त शौकत (इरफ़ान) को लेकर निकल पड़ता है. इस दौरान उनके कारवां में तान्या (मिथिला पालकर) भी शामिल हो जाती हैं और उसके बाद तीनो साथ में आगे बढ़ते हैं. इस कारवां में तीनो को अपनी जिंदगी के बारे में सोचने का मौका मिलता है तीनो अपने आपको ढूंढने की कोशिश में लग जाते हैं और उस कारवां के रास्तों पर भटकते हुए तीनो अपने आपको ढूंढते हैं. तीनो को जिंदगी में आने वाली समस्याओं से बाहर निकलने का रास्ता उसी कारवां के दौरान मिलता है और तीनो एक दूजे के लिए ख़ास बन जाते हैं. इसी तरह कहानी आगे बढ़ती है और फिर कहानी में ट्विस्ट और टर्न आते हैं. फिल्म में कॉमेडी भी है और इमोशंस भी.

Photo : क्या से क्या हो गए इरफ़ान खान

क्यों देख सकते हैं - फिल्म की कहानी बहुत ही शानदार है और तीन अजनबियों का कारवां बहुत लाजवाब का है. फिल्म का स्क्रीनप्ले भी काफी शानदार है. फिल्म के ट्रेलर से ही यह तय था कि फिल्म जबरदस्त होने वाली है. फिल्म में कॉमेडी कि भरमार है और साथ ही इरफ़ान के आते ही फिल्म रंगीन और खुशमिजाजी हो जाती है. फिल्म में इरफ़ान ने दर्शकों के लिए काफी अच्छे पंच दिए है वहीं मिथिला पालेकर ने भी कोई कसर नहीं छोटी उनका अभिनय काफी सरल और मुख्य रहा. उनका अभिनय देखने लायक है. फिल्म में दुलकर सलमान और मिथिला की केमेस्ट्री काफी लाजवाब दिखाई गई है और साथ ही फिल्म के संवाद भी शानदार हैं. फिल्म केवल 2 घंटे की है लेकिन फिल्म देखने वालों का पैसा वसूल हो जाएगा. फिल्म की कहानी आगे बढ़ती जाती है और लोगों को इंट्रेस्ट आता जाता है. फिल्म देखने पर यह लगता है कि यह कारवां हमेशा चलता रहना चाहिए रुकना नही चाहिए.

इलाज की आखिरी स्टेज पर इरफ़ान खान, कहा- 'कुछ ही समय में मर जाऊंगा'

कमज़ोर कड़ियां - फिल्म के गाने थोड़े कम बेहतरीन है जो रिलीज के पहले भी हिट नहीं हुए और रिलीज के बाद भी लोगों के द्वारा पसंद नहीं किए गए. फिल्म के प्रमोशन पर भी ज्यादा जोर नहीं दिया गया क्योंकि इरफ़ान खान की हालत खराब थी इस वजह से भी फिल्म की कमाई पर असर पड़ सकता है.

नए गाने से ज़िंदगी की अहमियत सीखा रहे इरफ़ान खान

बजट - फिल्म का बजट 20 करोड़ का है और इस फिल्म को 1000 स्क्रीन्स में रिलीज किया गया है फिल्म के प्रदर्शन से ऐसा लग रहा है वह अच्छा कलेक्शन जमा कर सकती है.

क्या शुरू हो पायेगी इरफान खान की रुकी हुई फिल्म

?