‘सूर्य स्पर्श’ के लिए नासा का ऐसा होगा अंतरिक्षयान

‘सूर्य स्पर्श’ के लिए नासा का ऐसा होगा अंतरिक्षयान

ताम्पा (अमेरिका)​ : नासा पहले भी कई बार अंतरिक्ष के तारों सितारों को टटोल चुका है और मंगल ग्रह पर पहुंचकर भी ये पता लगा चुका है कि वहां जीवन है या नहीं. अब बारी है सूर्य की, जिसे टटोलने के लिए नासा तैयारी में लगा हुआ है. खबरों की मानें तो भीषण तापमान वाले इस तारे तक पहुंचने के लिए मानवों के पहले मिशन को पूरा करने के लिए डेढ अरब डॉलर से नासा ने अंतरिक्षयान के प्रक्षेपण की तैयारी शुरू कर दी है.

जानकारी के अनुसार, ‘पारकर सोलर प्रोब’ नाम का ये अंतरिक्षयान कार के आकार का है जो शनिवार के तड़के ही फ्लोरिडा के केप केनवरल से डेल्टा 4 हैवी राकेट के साथ प्रक्षेपित किया जाना था. इस पर जानकारी देते हुए नासा ने कहा था कि इसका प्रक्षेपण अमेरिकी समायानुसार सुबह 3:33 पर होना है जो भारतीय समयानुसार 1 बजकर 3 मिनट. वहीं मौसम की बात करें तो मौसम पूर्वानुमान 70 प्रतिशत प्रक्षेपण के पक्ष में है. इस मिशन से ये पता लगेगा कि सूर्य के इस वातावरण में कितने रहस्य हैं.

इस मिशन का सिर्फ यही एक लक्ष्य है कि सूर्य की सतह के आसपास जो असामान्य वातावरण है उसके क्या खास रहस्य क्या है और इससे यही पता लगाया जाना है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सूर्य की सतह के ऊपर का क्षेत्र यानी कोरोना का तापमान सूर्य की सतह के तापमान से करीब 300 गुना ज्यादा है और आप समझ  ही सकते हैं कितना भीषण होता है ये. इस यान को सिर्फ साढे चार इंच यानी 11.43 सेंटीमीटर मोटी ऊष्मा रोधी शील्ड से सुरक्षित किया गया है और यही इस यान को सूर्य के तापमान से बचाएगी.

अमेरिका बनाने जा रहा है दुनिया की पहली स्पेस फ़ोर्स, ट्रम्प ने किया ऐलान

चीन में मस्जिद गिराने का आदेश, हजारों मुस्लिम सड़कों पर उतरे

आज दोपहर की सुर्खियां विस्तार से...

?