जब मनमोहन सिंह का विमान क्रैश होते-होते बचा था !

नई दिल्ली : भारत में उदारीकरण की नींव रखने वाले पूर्व वित मंत्री व पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का विमान क्रैश होते-होते रह गया था। तब वो रुस के आदिकारिक दौरे पर गए हुए थे। इसी दौरान मॉस्को में लैंडिंग से पहले वो बाल-बाल बचे थे। यह हैरान करने वाली जानकारी द फ्लाइट्स डेटा रिकॉर्डर (एफडीआर) से प्राप्त हुई है। 11 नवंबर 2011 को तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह रुस के दौरे पर गए। तभी एयर इंडिया के विमान बोइंग 747 में तकनीकी खराबी आ गई थी।

इसके बाद विमान में सावर क्रू मेंबर ने मॉस्को एटीसी से संपर्क साधा और कॉकपिट में वॉर्निंग लाइट्स जला दिए। एपडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, वीवीआईपी विमान सही फैसला लिए जाने से पहले ही इलेक्ट्रॉनिक गाइड स्लोप से नीचे उड़ने लगा था। स्लोप विमान रनवे से सही सलामत संपर्क में आने के लिए निर्धारित किया गया फ्लाइट पाथ होता है।

जब एयर इंडिया के क्रू मेंबर्स ने मॉस्को एटीसी के बताए तरीके से लैंडिंग की कोशिश की तो विमान के व्हील्स नीचे नहीं पाए और कॉकपिट में वार्निंग लाइट जला दी गई। इस मामले में एयर इंडिया ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। जूनियर पायलटों को प्रशिक्षित करने वाले एक कमांडर का कहना है कि वीवीआईपी विमानों की सुरक्षा में लैंडिंग गेयर का नीचे होना और अलार्म बजना बरती जाने वाली बड़ी सावधानियों में आता है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -