कर्नाटक चुनाव: फेक न्यूज़ से गरम सोशल मीडिया

कर्नाटक में 12 और 15 मई को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होनी है जिसके लिए प्रमुख पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. चुनाव प्रचार की तेजी के साथ- साथ कर्नाटक में फर्जी खबरे भी जोरो पर है. खबरों को सोशल मीडिया पर इस तरह से फैलाया जा रहा है कि और एक दूसरे दल की महिमा को धूमिल किया जा सके. इसी क्रम में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल किया गया जिसमे कन्नड गाने पर नाचते हुए एक शख्स को कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया बताया गया हैं. लेकिन असल में जो आदमी इस वीडियो में डांस करता दिख रहा है वो सिद्धारमैया का हमशक्ल है.

एक अन्य खबर जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई इसके मुताबिक टु़डेज चाणक्य ने एक एग्जिट पोल जारी किया है जिसका बाद में टु़डे चाणक्य ने ट्वीट करके खंडन किया . सिलसिला यही नहीं रुका राज्य सरकार के इंटेलिजेंस ब्रांच की एक चिठ्ठी भी सोशल मिडिया पर वायरल हो गई जिसमें मुख्यमंत्री को चामुण्डेश्वरी सीट से चुनाव नहीं लड़ने की सलाह दी गई थी क्योंकि ये सीट जीतना मुश्किल होगा. अंग्रेजी में लिखी इस चिठ्ठी में चुनाव लड़ने के लिए चार दूसरी सीट भी सुझाई गईं थीं.इस सीट पर एडीजी इंटेलिजेंस का दस्तख्त किया गया है और मुहर भी लगी है. लेकिन बहुत गौर से देखने पर पता चलता है कि मुहर में Fire & Emergency Services लिखा है.

अरुण जेटली का कर्नाटक चुनाव से ज्यादा सरोकार नहीं है न ही वे प्रचार में भागीदार है मगर सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने कहना शुरू कर दिया कि जेटली ने कठुआ में बलात्कार के मामले को मामूली घटना करार दिया है. सच्चाई ये है कि जेटली ने कठुआ को लेकर कोई बयान नहीं दिया है. चुनावी समर में सब कुछ हो रहा है और अफवाहों का बाजार गर्म है सोशल मिडिया इस काम को आसान बना रहा है .

कर्नाटक चुनाव में मोदी के एक तीर से दो निशाने

पीएम मोदी 15 मिनट बिना झूठ बोले कुछ बोल कर दिखाएं- कांग्रेस

पीएम ने राहुल को कहा अहंकारी

पीएम बिना झूठ बोले 15 मिनट बोलकर दिखाएं- सुष्मिता

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -