JEE MAIN: निशक्त विद्यार्थियों के लिए किये गए बदलाव

जयपुर: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) द्वारा जेईई मेन्स परीक्षा का आयोजन किया जाना हैं. आपको बता दे कि, यह परीक्षा इंजीनियरिंग की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक मानी जाती हैं. यह प्रतिवर्ष बोर्ड द्वारा आयोजित की जाती हैं, यह ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मोड़ में आयोजित की जाती हैं, इस परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि गत 1 जनवरी को समाप्त हो चुकी हैं. परीक्षा में इस बार सबसे ख़ास और दिलचस्प बात यह है कि, निशक्तजनों को 10वीं कक्षा की जगह 11वीं क्लास के साइंस मैथ्स के स्टूडेंट्स बतौर सहायक मिलेंगे.

आपको बता दे कि,  इससे पहले जेईई मेन्स के इनफॉरमेशन ब्रोशर में 10वीं क्लास के सहायक देने का प्रावधान था. पहले जहां परीक्षा में दृष्टिबाधित छात्रों को ही निशक्त माना  गया था, वही अब इस बार से इसमें भी कई परिवर्तन किये गए हैं. अब डिस्लेक्सिया, हाथों की अंगुली नहीं होने पर, ऊपरी लिंब्स में परेशानी होने वालों को भी निशक्त माना गया है. अतः अब ऐसे विद्यार्थियों को भी सहायक उपलब्ध कराए जाएंगे. इसके लिए अब निशक्त परीक्षा से 2 दिवस पूर्व परीक्षा केंद्र पर रिपोर्ट कर सहायक की मांग कर सकते हैं. 

बोर्ड द्वारा परीक्षा का आयोजन अप्रैल माह में होना है. जहां ऑफलाइन मोड में परीक्षा 8 अप्रैल को होगी. वहीं ऑनलाइन मोड में परीक्षा का आयोजन 16 अप्रैल को होगा. निःशक्तजनो के लिए सेंटर अधीक्षक 11वीं क्लास के किसी स्टूडेंट की व्यवस्था करेंगे. साथ ही ऐसे विद्यार्थियों को 1 घंटे  का अतिरिक्त समय भी प्रदान किया जाएगा. 

सीबीएसई बोर्ड का ये बयान, छात्रों को कर रहा परेशान

Cbse Board Exam: जानिए, परीक्षा से सम्बंधित पूर्ण जानकारी

Cbse Exam: 28 लाख विधार्थी देंगे परीक्षा, 8 ट्रांसजेंडर छात्र भी शामिल

जॉब और करियर से जुडी हर ख़बर न्यूज़ ट्रैक पर सिर्फ एक क्लिक में, पढिये कैसे करे जॉब पाने के लिए तैयारी और बहुत कुछ.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -