गलती थी कि हमने आपको सीएम बनाया -तेजस्वी यादव

बिहार के पूर्व उप- मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि हम लोगों की गलती थी कि हमने आपको सीएम बना दिया. तेजस्वी बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी द्वारा पटना के गांधी मैदान में आयोजित गरीब महासम्मेलन में बोल रहे थे. बता दें कि नीतीश कुमार ने कुछ दिन पहले कहा था कि हमारी गलती से कुछ लोग नेता बन गए. हालांकि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया था लेकिन माना जा रहा है कि नीतीश कुमार ने पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के लिए यह बात कही थी. अब तेजस्वी यादव ने इसका जवाब देते हुए नीतीश कुमार पर सीधा वार किया और कहा कि हिंदुस्तान में शायद ही किसी राज्य में चार साल में चार सरकार बनी हों. उन्होंने कहा कि बिहार सरकार ने मोहन भागवत को बुलाकर दंगा भड़काने का काम किया. साथ ही उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार सरकार को नागपुर से चलाया जा रहा है.

पूर्व मुख्यमंत्री जीतराम मांझी ने ये सम्मेलन इसलिए बुलाया था क्योंकि मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए उन्होंने जो 34 फैसले लिए थे उसमें से एक भी फैसला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लागू नहीं किया, हालांकि मांझी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ही बनाया था. मांझी ने नीतीश कुमार से उन फैसलों को लागू करने का अनुरोध किया. जीतनराम मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से गुजारिश की कि वो फैसला हमने लिया है उसे लागू करें. मांझी ने कहा कि हम जिस सपने को लेकर एनडीए में गए थे वो पूरा नहीं हो सका. मांझी ने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया था कि न्यायिक सेवा में भी आरक्षण लागू किया जाये लेकिन प्रधानमंत्री ने इसे अनसुना कर दिया.

उन्होंने कहा कि न्याय व्यस्था में दलितों की भागीदारी कम होने के कारण दलितों को न्याय नहीं मिल पाता है. मांझी ने लालू प्रसाद यादव की मांग का समर्थन करते हुए कहा कि जातिगत जनगणना की रिपोर्ट को सार्वजनिक किया जाए, जो बहुजाति हैं, जो पिछड़े हैं उन्हें फायदा मिलना चाहिए. मांझी ने कहा कि देश में दलितों की स्थिति ठीक नहीं है.इस मौके पर तेजस्वी यादव ने जमकर बीजेपी पर निशाना साधा और कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार आरक्षण विरोधी है और ये आरक्षण खत्म करना चाहते हैं. ये दलित विरोधी हैं. समाज में नफरत फैलाना चाहते हैं. बीजेपी देश की संस्कृति खत्म करना चाहती है.

उन्होंने कहा कि बीजेपी के सिर्फ 6 ऐजेंडा हैं. मंदिर, मस्जिद, दंगा, हिंदू, मुस्लिम और पाकिस्तान और ये सब केवल जनता को भटकाने के लिए हैं. तेजस्वी ने कहा कि लालू यादव जनता की आवाज उठाते रहे लेकिन बीजेपी और नीतीश कुमार ने उन्हें परेशान किया और फंसाने का काम किया. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर दलित की जमीन हड़पने का आरोप है लेकिन उनका कुछ नहीं हुआ. लालू जी ने कोई गुनाह नहीं किया लेकिन फिर भी उन्हें फंसा दिया गया.

 

पीएम मोदी की वादाखिलाफी के खिलाफ प्रदर्शन

शादी राजनीतिक मंच नहीं, सभी होंगे शामिल- तेजप्रताप

नीतीश सरकार को आरएसएस कंट्रोल कर रही है- तेजस्वी

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -