दीवाली पर सफाई का महत्व

दिवाली का त्यौहार हिंदुओं का मुख्य त्यौहार होता है.इस दिन मां लक्ष्मी जी की पूजा आराधना की जाती है.कहते हैं,माँ लक्ष्मी केवल उन घरों में ही प्रवेश करती है जहां सफाई का विशेष ध्यान रखा जाता है.इसी कारण दिवाली के पहले हर घर में साफ सफाई की जाती है.दीवारों को नए रंगों से रंगा जाता है.घर का सारा कबाड़ बाहर निकाल दिया जाता है और नई वस्तुओं की खरीदी की जाती है.

दशहरे के बाद से ही हर घर में सफाई का दौर शुरू हो जाता है.घर के सभी सदस्य इस काम में जुट जाते हैं.घर की सारी पुरानी अनावश्यक चीजों को बाहर निकालकर कबाड़ में दे दिया जाता है और घर के हर कोने की सफाई की जाती है. घर की दीवारों को नए रंगों से रंगा जाता है.नए सामानों की खरीदी कर पूरे घर को सजाया जाता है.घर के द्वार पर पर रंग बिरंगे तोरण लगाए जाते हैं,आंगन में रंगोली सजाई जाती है.दीयों,मालाओं व झालरों से सजावट की जाती है.हर एक की चाहत होती है कि मां लक्ष्मी उनके घर में प्रवेश करे,इसलिए घर को मंदिर की तरह स्वच्छ और पवित्र बनाया जाता है.

दिवाली का त्योहार अक्टूबर-नवम्बर महीने में आता है.मौसम परिवर्तन के कारण कई बीमारियां उत्पन्न हो सकती है.यही वजह है कि दिवाली पर घर के भीतर और बाहर स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाता है.

इस दिवाली घर पर बनाए बॉर्डर रंगोली और सजाएं घर

इस दिवाली पर Hyundai दे रही है अपनी इन कारों पर ऑफर

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -