अनोखी पहल : यहाँ गाँवों में जाती है गधा लाइब्रेरी

अक्स ही हम सभी लाइब्रेरी में जाकर किताबें पढ़ते हैं क्योंकि लाइब्रेरी तो हमारे पास आ नहीं सकती. अब आज हम एक ऐसी लाइब्रेरी के बारे में बात करने जा रहे है जो हमारे पास चलकर आती हैं. जी दरअसल में हम जिस लाइब्रेरी की बात कर रहे है वह चलती-फिरती लाइब्रेरी है जो एक गधे के माध्यम से चलती हैं. जी हाँ, कोलंबिया में लोग लाइब्रेरी को लाइब्रेरी नहीं बल्कि बिबलियोटेका कहते हैं. यहाँ पर एक सोरियानो नाम के एक व्यक्ति ने कुछ ऐसा काम किया जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. जी दरअसल में सोरियानो एक स्कूल में टीचर थे लेकिन उनके आस-पास के इलाकों में बच्चो के पास किताबें नहीं थी और इसी वजह से वह पढ़ नहीं पाते थे. वहां की जगह भी ऐसी थी कि कार चलाना मुश्किल था इस वजह से सोरियानो ने दो गधे खरीद लिए और उसके बाद उन गधों पर वह किताबें लादकर गाँव-गाँव ले जाने लगे और उन्ही से बच्चो को पढ़ाने लगे.

आपको बता दें कि यह सोरियानो अभी से नहीं बल्कि बीते दस सालों से करते आ रहे हैं. पहले के समय में उन्होंने एक लाइब्रेरी कि शुरुआत की और उसके बाद गधा लाइब्रेरी की शुरुआत. अब वहां के क्षेत्रों में गधा लाइब्रेरी काफी पॉपुलर हो चुकी हैं और लोग दूर से ही उसे पहचानने लगे हैं. गाँवों में जाने के बाद अब सोरियानो सबको पढ़ाते हैं और कहानियां दुनाते हैं. वाकई में यह बहुत ही शानदार कार्य है और इस कार्य के लिए सोरियानो को हमारा सलाम है.

WhatsApp पर 2 नहीं इतने लोग एक साथ करेंगे वीडियो कॉल

बिना खाए-पीए पिछले 78 सालों से कैसे जीवित हैं प्रह्लाद जानी

इस सांप के काटने पर पलभर में मौत के घाट उतर जाता है इंसान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -