Friendship Day 2018 : जब अजनबियों से 'दोस्ती' करने में लगे डर तो इन्हें बनाये अपना 'बेस्टफ्रेंड'

Friendship Day 2018 : जब अजनबियों से 'दोस्ती' करने में लगे डर तो इन्हें बनाये अपना 'बेस्टफ्रेंड'

अगर किसी से पूछा जाये कि इस दुनिया का सबसे खूबसूरत रिश्ता कौन सा है तो बेशक वह दोस्ती का ही नाम लेगा क्योंकि यह एक ऐसा रिश्ता है जो खून का रिश्ता न होकर भी हमारे जीवन में एक ख़ास भूमिका निभाता है. ये एक ऐसा रिश्ता होता है जिसे हम अजनबी इंसान से भी निभाना पसंद करते हैं. खास बात तो यह है कि इस रिश्ते का सही मतलब और अपने दोस्तों को अपनी दोस्ती जाहिर करने के लिए भी एक ख़ास दिन होता है, जी हां हर साल अगस्त महीने का जो भी पहला रविवार होता हैं, उसी दिन 'फ्रेंडशिप डे' मनाया जाता है.

इसकी शुरुआत वर्ष 1935 में अमेरिकी सरकार ने की थी. दरअसल प्रथम विश्व युद्ध के बाद लोगों और देशों के बीच काफी शत्रुता बढ़ गई थी और इस दौरान लोग एक दूसरे से बहुत नफरत करते थे बस इसी नफरत को प्यार में बदलने के लिए 'फ्रेंडशिप डे' जैसे दिन की शुरुआत की. आज हम आपको दोस्ती के बारे में कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जो आपकी लाइफ और आपके दोस्तों की दोस्ती आपके और भी करीब ले आएंगी.

दरअसल कुछ लोग ऐसे होते हैं जो दोस्त रखना पसंद नहीं करते या फिर यूं कहे कि वह अकेला ही रहना पसंद करते हैं. इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं जैसे कि उन्हें दूसरों पर ट्रस्ट नहीं होता है या फिर वे धोखा खा चुके होते हैं. बता दें कि अगर आपको अजनबी लोगों से दोस्ती करने में डर लगता हैं तो आप अपने घर के सदस्यों को अपना दोस्त बनाये.

जैसे कि आपकी माँ, अगर आप अपनी माँ को अपनी बेस्ट फ्रेंड बनाते हैं तो ये फ्रेंड दुनिया की वो फ्रेंड हैं जो आपको कभी भी दुःख नहीं देगी और न ही कभी आपको धोखे का डर रहेगा. यही नहीं बल्कि ये दोस्त ऐसी होगी जो आपको कभी छोड़कर नहीं जाएगी और आपके हर बुरे वक्त में आपका साथ देगी. आप चाहे तो अपने पापा, भाई, भाभी को भी अपना सबसे अच्छा दोस्त बना सकते हैं.

ये भी पढ़े

Friendship Day : समय के साथ-साथ कितना बदल गया फ्रेंडशिप डे मनाने का तरीका

Friendship Day: इस बार अपने दोस्तों को बांधे ये ख़ास बैंड्स

Friendshipday 2018 : कृष्ण-सुदामा जैसी दोस्ती चाहते हैं तो हमेशा ध्यान रखें ये बातें

?