किसानों की आत्महत्या का मामला गरमाया

किसानों की आत्महत्या का मामला एक बार फिर से गरमाने लगा है. राज्य में पिछले एक सप्ताह में समय से उपज का भुगतान न होने  और कर्ज के चलते छह किसानों ने आत्माहत्या कर ली है. किसानों की आत्माहत्या पर कांग्रेस ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है. कांग्रेस का कहना है कि  7 दिनों में 6 किसानों की आत्महत्याओं के लिए सरकार की नीतियां जिम्मेदार है. 

इस मामले पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि- देखिए मप्र में हमारे अन्नदाताओं के हालात. किसान ने अपने 17 साल के बेटे को गिरवी रख दिया और फिर भी कर्ज न चुका पाए तो आत्महत्या कर ली. प्रदेश के लिए अत्यंत शर्म की बात. कमलनाथ ने ट्वीट करके कहा कि- शिवराज जी, देश की राजनीति, कर्नाटक की चिंता छोड़, अपने प्रदेश की चिंता कीजिए.जिसके लिये मध्य प्रदेश की जनता ने आपको चुना है. 6 दिन में 6 किसानों ने आत्महत्या की है. शेखचिल्ली के सपने छोड़, वास्तविक धरातल पर जवाबदारी निभाइए.इन किसानों में बुरहानपुर का भी एक किसान है जिसनें  कर्ज न चुकाने के एवज में अपने बेटे को गिरवी रखा और जब वह कर्ज चुकाकर बच्चे को नहीं छुड़ा पाया तो उसने आत्महत्या कर ली.

पुणे की कंपनी राज्य में प्लेसमेंट सेंटर चलाएगी

महिला ने मंदिर में अपनी जीभ काटकर चढ़ा दी

शहर में अत्याधुनिक इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर बनकर तैयार हुआ

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -