वजन बढ़ने का कारण दवाये भी हो सकती है

May 14 2015 01:08 AM
वजन बढ़ने का कारण दवाये भी हो सकती है

आजकल वजन बढ़ना आम समस्या हो गई है, यह पुरुषों से लेकर महिलाओं, बच्चों किसी को भी हो सकती है. इसके लिए गलत खान-पान, नींद न आना, आनुवांशिक, स्ट्रेस आदि कई सारे कारण हो सकते हैं, लेकिन हैरान करने वाली बात ये है कि ज्यादा मात्रा में दवाइयों का उपयोग करना भी वजन बढ़ने का कारण बन रहा है. वैसे इसमें कोई दो राय नहीं कि दवाइयों के बहुत सारे साइड इफेक्ट्स भी होते हैं जो तत्काल नहीं तो कुछ वक्त के बाद अपना प्रभाव दिखाते हैं. लेकिन मोटापा एक ऐसा साइड इफेक्ट है जो कुछ ही दिनों में दिखने लगता है.

एंटीबायोटिक्स का इस्तेमाल इन्फेक्शन से जल्द निजात पाने में किया जाता है जो काफी हद तक कारगर भी है. लेकिन इसके ज्यादा इस्तेमाल से वजन भी तेजी से बढ़ने लगता है. एंटीबायोटिक्स सबसे पहले माइटोकॉर्डिया को डैमेज कर देता है जिसका काम खाने को शरीर के लिए जरूरी एनर्जी में बदलना होता है. साथ ही हेल्थ को सही रखने में भी ये काफी हद तक जिम्मेदार है. साल 2012 में ब्रिटिश रिसर्च में ये पाया गया कि जिन बच्चों ने बचपन में एंटीबायोटिक्स का बहुत ज्यादा सेवन किया था, बाद में उनका वजन काफी बढ़ गया. एंटीबायोटिक्स का काम बैक्टीरिया को खत्म करना होता है, उन्हें अच्छे और बुरे बैक्टीरिया की पहचान नहीं होती.

इसलिए कई बार ये हेल्थ के लिए फायदेमंद नहीं होते. ये किसी से छिपा नहीं है कि स्टेरॉइड्स सेहत के लिए बहुत ही नुकसानदायक होते हैं. लेकिन अस्थमा और आर्थराइटिस से जूझ रहे मरीजों के लिए बहुत ही कारगर होते हैं. इनके सेवन से ज्यादा भूख लगती है जिससे वजन तेजी से बढ़ने लगता है.स्टेरॉइड्स शरीर के मेटाबॉलिज्म को प्रभावित करते हैं. इसके ज्यादा इस्तेमाल से डायबिटीज की संभावना भी काफी हद तक बढ़ जाती है. स्टेरॉयड्स के इस्तेमाल से फायदे कम और साइड इफेक्ट्स ज्यादा होते हैं. बहुत दिनों तक इसका इस्तेमाल काफी सारी और परेशानियों का कारण भी बन सकता है. अलग-अलग लोगों में इसका अलग प्रभाव देखा जाता है. इसके कारण चेहरे पर सूजन, गले में सूजन आदि परेशानियां हो सकती हैं.

 

?