समुद्र के नीचे से दौड़ेगी देश की पहली बुलेट ट्रेन

Dec 19 2017 02:39 PM
समुद्र के नीचे से दौड़ेगी देश की पहली बुलेट ट्रेन

नई दिल्ली। देश में बुलेट ट्रेन का सपना पूरा होने में भले ही अभी काफी वक्त है, पर इस महत्वाकांक्षी प्रॉजेक्ट से जुड़ी बातें लोगों को अभी से रोमांचित करने के लिए काफी हैं। मुंबई और अहमदाबाद के बीच चलने वाली यह बुलेट ट्रेन समुद्र के नीचे से भी गुजरेगी और इसके लिए काम जोरशोर से चल रहा है।

समुद्र के भीतर बुलेट ट्रेन की सुरंग बनाने के लिए मिट्टी और चट्टानों का परीक्षण हाइड्रोफोन तकनीक से शुरू हो गया है। मुंबई-अहमदाबाद रेल कॉरिडोर के 7 किलोमीटर लंबे समुद्र के नीचे के मार्ग की ड्रिलिंग का काम शुरू हो गया है। इसके तहत फिलहाल समुद्र के नीचे की मिट्टी और चट्टानों का परीक्षण किया जा रहा है।

जापानी कंपनी कावासाकी साउंड स्टेटिक रिफ्रैक्टरी टेस्ट कर रही है। मुंबई से अहमदाबाद के बीच 508 किलोमीटर लंबे रेल कॉरीडोर में समुद्र के अंदर करीब 21 किलोमीटर की सुरंग बनाई जानी है। बताया जा रहा है कि 21 किमी लंबी सुरंग के लिए 66 जगह पर बोरिंग कर समुद्र तल पर विशेष उपकरण फिट किए गए हैं। इनमें ध्वनि तरंग बजकर उनसे प्राप्त आंकड़ों से चट्टान की क्वालिटी का पता चलता है। इंफ्रास्ट्रक्चर में यह तकनीक देश में पहली बार इस्‍तेमाल की जा रही है।

दो प्रमुख महानगरों को जोड़ने वाली इस हाई स्पीड ट्रेन परियोजना के पूरा होने के बाद ठाणे के नजदीक देश में पहली बार यात्रियों को समुद्र के नीचे की यात्रा करने का रोमांच महसूस होगा। ट्रेन अधिकतम 350 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेगी।  बुलेट ट्रेन साबरमती से मुंबई तक पहुंचेगी और इसके लिए दोहरी लाइन होंगी।

इसका लगभग 156 किमी महाराष्ट्र और 351 किमी गुजरात में होगा। बुलेट ट्रेन का पहला स्‍टेशन साबरमती है, जिसके बाद यह अहमदाबाद, आणंद/ नादिया, वडोदरा, भरच, सूरत, बिलीमोरा, वापी, वोइसर, विरार और ठाणे स्‍टेशन होते हुए अंतिम स्‍टेशन मुंबई पहुंचेगी।

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'समुद्र के नीचे की 70 मीटर की गहराई पर मौजूद मिट्टी और चट्टानों का परीक्षण किया जा रहा है और यह पूरी परियोजना के लिए किये जाने वाले भू-तकनीकी और भू-भौतिकीय परीक्षण के कार्य का हिस्सा है।'  उन्होंने बताया कि 21 किलोमीटर लंबी सुरंग को छोड़कर 508 किलोमीटर लंबे कॉरिडोर का अधिकांश हिस्सा एलिवेटेड मार्ग पर पर प्रस्तावित है, जबकि ठाणे क्रीक के बाद विरार की ओर का एक हिस्सा समुद्र के अंदर से गुजरेगा। 

ऑडी हॉस्पिटल में छोड़ ऐंबुलेंस से घर पहुंचा बिजनेसमैन

बाज़ार के रेंज बाउन्ड रहने की सम्भावना

एप्पल इंडिया को बड़ा झटका, सीईओ ने छोड़ी कंपनी

 

?