DEA सेक्रेटरी सुभाष गर्ग ने ईंधन के बढ़ते दामों को बताया 'अल्पकालिक'

Aug 29 2018 08:00 PM
DEA सेक्रेटरी सुभाष गर्ग ने ईंधन के बढ़ते दामों को बताया 'अल्पकालिक'

नई दिल्ली: देश में लगातार बढ़ते पेट्रोल और डीज़ल के दामों से जनता परेशान है, साथ ही विपक्ष भी इस मुद्दा बनाकर केंद्र सरकार पर लगातार हमले कर रही है, ऐसे में डिपार्टमेंट ऑफ़ इकनोमिक अफेयर्स (DEA) के सेक्रेटरी सुभाष गर्ग ने एक प्रेस वार्ता के दौरान इसका जवाब दिया है. उन्होंने पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा है कि ईंधन के दामों में बढ़ोतरी अस्थायी और अल्पकालिक है.

करियर नेशनलिस्ट है यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी : अरुण जेटली

उन्होंने कहा कि "मुझे ईमानदारी से विश्वास है कि ब्रेंट और कच्चे तेल में तेल की कीमतों में यह वृद्धि वास्तव में अस्थायी है, कच्चे तेल में आने वाली उतार-चढ़ाव के तहत दुबई क्रूड की कीमत 70 डॉलर प्रति बैरल के स्तर तक गिर गई थी, यह अस्थायी होना चाहिए." गौरतलब है कि भारत दूसरे देशों से ईंधन आयात करता है, ऐसे में वैश्विक स्तर पर तेल की कीमत में अनियमितता आने पर भारत में भी तेल की कीमतें प्रभावित होती हैं.

जन्म दिन विशेष : मेजर ध्यानचंद को कभी हिटलर ने किया था जर्मनी नागरिकता का ऑफर

वहीं दूसरी और शिवसेना ने केंद्र और राज्य में अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा से कहा कि अगर वह जनता के लिए अच्छे दिन नहीं ला सकती तो कम से कम ईंधन के दामों को कम करके लोगों के जीवन में स्थिरता ही ला दे. आपको बता दें कि पिछले ढाई महीने में पेट्रोल की कीमत दिल्ली में कल पहली बार 78 रुपये प्रति लीटर के स्तर को पार कर गई है. वहीं, डीजल का दाम 69.61 रुपये प्रति लीटर हो गया है, शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में कहा,‘’सरकार ईंधन की बढ़ती कीमतों पर नियंत्रण करने में सक्षम नहीं है. 

 खबरें और भी :-

शराब पी तो आपकी गाड़ी ही करेगी पुलिस से शिकायत

लड़कियों के लिए मानसिक और भावनात्मक घाव है खतना : सुप्रीम कोर्ट

महिलाओं के खतना के खिलाफ दायर की हुई याचिका पर आज होगी सुनवाई

?