प्राइवेट कैब कंपनी उबर और रेप पीड़िता में समझौता

टैक्सी सेवाएं देने वाली कंपनी उबर और रेप पीड़िता के बीच चल रहा मुकदमा आख़िरकार समझौते पर आकर ख़त्म हुआ. ये जानकारी उबर की ओर से दी गई. समझौते की शर्तो के बारे में अभी कुछ पता नहीं चल पाया है. 2014 में कंपनी के एक चालक ने महिला का बलात्कार किया था और उसके बाद उबर के शीर्ष कार्यकारियों के खिलाफ महिला ने अनुचित तरीके से उसका चिकित्सकीय रिपोर्ट हासिल करने को लेकर मुकदमा दायर किया था.

इस साल जून में महिला ने कंपनी और उसके निष्काषित मुख्य कार्यकारी अधिकारी ट्राविस कलानिक के खिलाफ चिकित्सकीय रिकॉर्ड अनुचित तरीके से हासिल करने और गलत कहानियां बनाने को लेकर मुकदमा दायर किया था.

खबर आ रही है केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने विश्वास जताया है की बाइक टैक्सियां न केवल महानगरों में भीड़भाड़ वाले रास्तों पर लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने में मदद करेंगी बल्कि इससे सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को सस्ता परिवहन भी उपलब्ध होगा. हालांकि बाइक टैक्सियां देश के कुछ स्थानों पर शुरु की गयी है. लेकिन यह ज्यादातर निजी कंपनियों की पहल है. ओला और उबर दोनों ही कई शहरों में बाइक टैक्सी की शुरुआत कर चुके हैं. सरकार जल्द बाइक टैक्सी सेवा शुरु कर प्राइवेट कैब कंपनी ओला, उबर की छुट्टी करने की पूरी तैयारी कर ली है. केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि सरकार बड़े पैमाने पर बाइक टैक्सी सेवा लागू करवाने की योजना बना रही है. 

यहाँ क्लिक करे 

टाटा मोटर देगी नयी सौगात

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने दी क्रिसमस की शुभकामनाएं

पीएम मोदी किसी की भी बात नहीं सुनते : बीजेपी सांसद

विकास जातिवाद और संप्रदायवाद से तय होगी चुनावी जीत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -