मिजोरम के मुख्यमंत्री भी हुए नस्ली बर्ताव और भेदभाव के शिकार

Apr 25 2017 06:43 PM
मिजोरम के मुख्यमंत्री भी हुए नस्ली बर्ताव और भेदभाव के शिकार

मिजोरम : मिजोरम भारत का ही हिस्सा है यह भारत से अलग नहीं है तो फिर यहाँ के लोग भी भारतीय हुए ना ..., कुछ इसी तरह के अल्फाज़ मिजोरम के मुख्यमंत्री लल थनहवला ने अपने कलपते दिल से निकाले. जानकारी दे दे कि हाल ही में उन्होंने भारत में हो रहे नस्ली भेदभाव की कड़ी आलोचना की. साथ ही इसे एक शर्मनाक बर्ताव भी बताया. 

74 साल के लल थनहवला ने हाल ही में एक इंटरव्यू में अपने दिल की बात खुलकर रखी. उन्होंने उन लोगो को सबसे बड़े बेवकूफ कहा जो नस्ली भेदभाव रखते है. उन्होंने कहा एक बार एक शख्स ने मुझसे ही कह दिया कि आप भारतीय नहीं लगते. इस पर थनहवला ने जबाब दिया तो बताओ भाई भारतीय कैसे दिखते है. 

लल थनहवला कांग्रेस के सीनियर लीडर है जो कहते है कि नस्ली भेदभाव के कारण ही हमारे देश में अलगावबाद का जन्म होता है. एक ही देश के लोग अपने ही क्षेत्र के लोगो से नस्ली भेदभाव है जो बहुत ही शर्मनाक है. यह समस्या भारत को एक दिन बहुत बड़े खतरे का सामना करने पर मजबूर कर देगी. 

अब कोई नहीं कहेगा कि आमिर खान अवार्ड शो में शामिल नहीं होते

Video : ब्रैस्ट कैंसर के Ad में ब्रैस्ट दिखाने का निकाला अनोखा तरीका, जो नहीं होगा Ban

ब्रिटेन में 38 इंडियन वर्कर्स पुलिस की हिरासत में, जानिये कारण

दिल्ली नगर निगम चुनाव में 270 सीटों पर हुई निराशाजनक वोटिंग

 

 

?