पुरातत्व विभाग को मिल गया सिकंदर का 1700 साल पुराना ताबूत

पुरातत्व विभाग को मिल गया सिकंदर का 1700 साल पुराना ताबूत

सिकंदर की कब्र को लेकर पुरातत्वविदों के एक समूह ने एक ताबूत के बारे बड़ा खुलासा किया है. इस समूह को जुलाई महीने में उत्तरी मिस्त्र के तट पर बसे एक शहर एलेक्ज़ेंड्रिया से करीब दो हजार साल पुराना एक ताबूत मिला है. इस ताबूत की खास बात यह है कि यह अब तक का सबसे बड़ा ताबूत बताया जा रहा है. 

आपको बता दें, काले ग्रेनाइट से बने इस ताबूत की ऊंचाई करीब 2 मीटर है वहीं इसका वजन भी 30 टन के आसपास है.  वहीं इस बारे में मिस्र के पुरातत्व मंत्रालय ने अपने आधिकारिक फेसबुक हैंडल पर लिखा है कि "यह 265 सेंटीमीटर लंबा, 185 सेंटीमीटर ऊंचा और 165 सेंटीमीटर चौड़ा है." पुरातन विभाग के निदेशक अयमान अशमावी ने मंत्रालय के फ़ेसबुक पोस्ट में लिखा, "ताबूत के ऊपरी हिस्से और बॉडी के बीच चूने की परत है, जो यह संकेत दे रहा है कि प्राचीन काल में इसे बंद करने के बाद से नहीं खोला गया है."

बीबीसी वर्ल्ड सर्विस के अफ्रीका क्षेत्र के एडिटर रिचर्ड हैमिल्टन ने कहा है कि "मिस्त्र के पुरातत्व विभाग के खोजी गई कब्र कहीं सिकंदर की तो नहीं? अगर ऐसा होता है तो यह मिस्त्र के पुरातत्व विभाग के द्वारा अब तक की सबसे बड़ी खोज मानी जा रही है." हालाँकि इस बारे में अभी कोई ठोस साबुत सामने नहीं आए है लेकिन जांच जारी जो उस सिकंदर की कब्र की दिशा में ही हो रही है. 

इन देशों में हैं सेक्स की अजीबोगरीब प्रथाएं

दुनिया का टकलापन ढकता है भारत

फीफा के खुमार में कर दिया ऐसा स्टंट, इंटरनेट पर मचाया तहलका