बूढ़ी मां को कमरे में बंद कर अंडमान चला गया बेटा

बचपन में माँ का पल्लू पकड़कर घुमने वाले बच्चे बड़े होने पर उसे सिर्फ बोझ समझते हैं. ऎसी ही एक कलियुगी औलाद की खबर आई है कोलकाता से. जहां एक बेटा अपनी 96 वर्षीय माँ को कमरे में बंद कर छुट्टियां मनाने अंडमान चला गया. तीन दिन बाद जब महिला की बेटी घर पहुंची तो पुलिस की मदद से उसे बाहर निकाला.

कोलकाता के आनंदापुर में सबिता नाथ अपने बेटे विकास के साथ रहती हैं. विकास बुधवार रात को अपनी मां को कमरे में बंद कर अंडमान के लिए निकला. सबिता की बेटी जयश्री के अनुसार, जब वह रविवार को उनसे मिलने आईं तो देखा कि घर का दरवाजा बंद है. लेकिन बाथरूम के अंदर से कुछ आवाज़ें आ रही थी. जिसके बाद उन्होंने फोन करके पुलिस को बुलाया.

सबिता बाहर आने के बाद मीडिया से बात करती हुए भावुक हो गईं. उन्होंने कहा कि मैंने दो बार उल्टियां की हैं, मेरे बेटे ने मुझे कमरे में बंद कर दिया था. उसने नौकरानी को घर की चाबी दी थी, उसने एक बार गेट खोल कर मुझे खाना दिया था. लेकिन उसके बाद वो भी नहीं आई. महिला ने बताया कि उसके कमरे में कुछ बिस्किट के पैकेट रखे थे, जिन्हें वह खा रही थी. वह उठकर बाथरूम नहीं जा पा रही थी, इसलिए कमरे में ही टॉयलेट कर दिया. बाद में खुद ही पूरा कमरा साफ भी किया.

राष्ट्रगान,ध्वज का अपमान करने पर चीन में बढ़ेगी सज़ा अवधि

उमा भारती ने की हार्दिक पटेल की तारीफ़

दिल्ली हाईकोर्ट ने दिया केजरीवाल को झटका

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -