शनिदेव के 9 वाहन

पिछले भाग में हम आपको शनि देव के कुछ वाहनों की जानकारी दे चुके है आइये जानते है शनि देव के अन्य वाहनों और राशि पर उनके प्रभाव के बारे में  –

1-शनिदेव का वाहन सिंह - यदि शनि की सवारी सिंह हो तो जातक को शुभ फल मिलता है. इस समय जातक को समझदारी और चतुराई से काम लेना चाहिए इससे शत्रु पक्ष को परास्त करने में मदद मिलती है.

2-शनिदेव का वाहन सियार- यदि शनि का वाहन सियार हो तो जातक को शुभ फल नहीं मिलते है. इस दौरान जातक को अशुभ सूचनाएं अधिक मिलने की संभावनाएं बढ़ जाती है. इस स्थिति में जातक को बहुत ही हिम्मत से काम लेना होता है.

3-शनिदेव का वाहन कौआ- यदि शनि का वाहन कौआ हो तो जातक को इस अवधि में कलह में बढ़ोतरी होती है. परिवार या दफ्तर में किसी मुद्दे को लेकर कलह या टकरावों की स्थिति से बचना चाहिए.

4-शनिदेव का वाहन मोर- शनि की का वाहन हो तो जातक को शुभ फल देता है. इस समय जातक को अपनी मेहनत के साथ-साथ भाग्य का साथ भी मिलता है. इस दौरान जातक को समझदारी से काम करने पर बड़ी-बड़ी परेशानी से भी पार पाया जा सकता है. इसमें मेहनत से आर्थिक स्थिति को भी सुधारा जा सकता है.

5-शनिदेव का वाहन हंस- यदि शनि की का वाहन हो तो जातक के लिए बहुत शुभ होता है. इस सायम जातक अपनी बुद्धि औए मेहनत करके भाग्य का पूरा सहयोग ले सकता है. इस अवधि में जातक की आर्थिक में सुधार देखने को मिलता है. हंस को शनि के सभी वाहनों में सबसे अच्छा वाहन कहा गया है.

देवप्रबोधनी एकादशी पर होंगे तुलसी विवाह के आयोजन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -