गैंगरेप के बाद इस लड़की ने किया ऐसा की आप भी उसके होंसले को करोगे सलाम

Sep 29 2015 03:21 AM
गैंगरेप के बाद इस लड़की ने किया ऐसा की आप भी उसके होंसले को करोगे सलाम

अमृतसर । मामला 28 जनवरी की है जब 26 वर्षीय लड़की कपूरथला से आकर गुरदासपुर के मेहता बस स्टैंड के पास अपने प्रेमी का इंतजार कर रही होती है। उसी समय वही चार लड़के भी मौजूद थे। इस दौरान एक लड़का गाड़ी लेकर आता है चारो बदमाश उस लड़की को जबरन कार में डालते हैं और एक अनजान जगह ले जाकर चारों उस लड़की पर टूट पड़ते है और बारी बारी से हवस की आग बुझते है फिर बेहाल लड़की को सुनसान जगह पर फेंक कर भाग जाते हैं। इस घटना के बाद लड़की पूरी तरह से टूट चुकी थी लेकिन उसके प्रेमी ने उसका साथ नहीं छोड़ा। उसने लड़की से शादी की और उसे हौसला दिया।

इसके बाद लड़की ने फैसला किया कि वह खुद आरोपियों को ढूंढ़कर उन्हें सलाखों के पीछे पहुंचाएगी। पति ने भी लड़की का पूरा साथ दिया। 9 महीने बाद आखिरकार उनकी मेहनत रंग लाई और आरोपियों को पहचान कर रविवार देर रात दोनों ने पुलिस में केस दर्ज करा दिया। दोनों की पहचान गांव विल्ला के एेमी और प्रीत के रूप में हुई है, जबकि इनके साथ 2 अन्य साथी भी थे, जिनकी पहचान नहीं हो पाई है।

घटना की तफ्तीश कर रही सब-इंस्पेक्टर बलविंदर कौर के अनुसार लड़की के आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है और उन्हें पकड़ने के लिए छापेमारी शुरू कर दी है। पुलिस शिकायत में गुरदासपुर निवासी लड़की ने बताया कि वह एक लड़के से प्रेम करती थी। घटना के बाद उसका प्रेमी उसे डॉक्टरों के पास ले गया और उपचार करवाया। कुछ दिन बाद ही दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली। लव मैरिज के कारण परिवार वालो का साथ नहीं था। जिसके डर से उन दोनों ने पुलिस में भी जाने की हिम्मत नहीं की। लड़की ने तय किया कि वह खुद ही उसके आरोपियों को ढूंढ़कर पुलिस के हवाले करेगी। इसके बाद दोनों ने मिलकर आरोपियों को ढूंढना शुरू किया।

सबसे पहले लड़की वहां गई जहां उसे सामूहिक बलात्कार के बाद फेंका गया था। उसके आसपास के इलाके में आरोपियों की तलाश में कई दिनों तक लड़की जाती रही कि कुछ सबूत मिल जाए। इसके बाद लड़की वहां गई जहां वह अपने प्रेमी का इंतजार कर रही थी। वहां बने एक रेस्तरां में लगे CCTV फुटेज को खंगाला। फुटेज में दोनों दरिंदो के चेहरे नजर आ गए। इसके बाद वह वीडियो के आधार पर गांव-गांव भटकी। आखिरकार 9 महीने बाद गांव विल्ला में उन दोनों लड़कों को पता ठिकाना पता चल गया। वही एचएचओ अमनदीप सिंह ने लड़की हे होंसले की सरहाना करते हुए कहा की- लड़के के हौसले, हिम्मत को बेकार नहीं जाने देंगे। क्योंकि इतने बड़े हादसे के बावजूद लड़की टूटी नहीं और लड़के ने उसे अपनाया। सभी आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।