राहुल की एंट्री ने फेरा FTII विद्यार्थियों के अरमानों पर पानी

Sep 07 2015 03:40 PM
राहुल की एंट्री ने फेरा FTII विद्यार्थियों के अरमानों पर पानी

पुणे : महाभारत फेम गजेंद्र सिंह चौहान को फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्युट आॅफ इंडिया के निदेशक पद पर नियुक्त किए जाने के साथ ही जमकर विवाद हुआ। अब इस मामले में यह बात सामने आई है कि यदि विद्यार्थियों के आंदोलन में निदेशक गजेंद्र सिंह को अपदस्थ कर दिया गया होता। मगर इस मामले में कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी FTII पहुंच गए और केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया, जिसके बाद सरकार अड़ गई और गजेंद्र को नहीं हटाया गया। हालांकि इस मामले में विद्यार्थी 87 दिनों से भूखहड़ताल पर हैं।

माना जा रहा है कि अब यह मामला सुप्रीम कोर्ट के संज्ञान मे लाया जाएगा। मिली जानकारी के अनुसार समाचार पत्र में रिपोर्ट प्रकाशित हुई कि गजेंद्र का जिस तरह से विरोध किया गया उसके बाद उन्हें हटाने का निर्णय ले लिया गया था लेकिन इस मामले में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा विद्यार्थियों से चर्चा करने के बाद सरकार ने ऐसा करने का निर्णय वापस ले लिया और गजेंद्र ही संस्थान के अध्यक्ष बने रहे।

हालांकि गजेंद्र को हटाकर फिल्म निर्माता निर्देशक राजकुमार हिरानी को संस्थान की जिम्मेदारी देने का निर्णय लिया गया था। उल्लेखनीय है कि FTII के विद्यार्थी इस मामले में धरने पर बैठ गए और इनकी भूखहड़ताल भी 87 दिनों से जारी है। अब तो शिक्षकों ने भी भूखहड़ताल प्रारंभ कर दी है। मामले को लेकर कहा जा रहा है कि अब यह मामला सुप्रीम कोर्ट के संज्ञान में लाया गया है। जिसके बाद सर्वोच्च न्यायालय इस मामले की सुनवाई करेगा।