यूपी में जारी है मासूमों से दरिंदगी का सिलसिला

Jun 23 2018 03:34 PM

लखनउ। एक ओर उत्तर प्रदेश के  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने की बात कह  रहे हैं, वहीं दूसरी ओर राज्य में मासूमों से दरिंदगी का सिलसिला थम नहीं रहा है। बार फिर एक बच्ची को एक ​दरिंदे ने  अपनी हवस का शिकार बनाने की कोशिश की। हालांकि यह दरिंदा अपनी हैवानियत में कामयाब नहीं हो पाया और लोगों ने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। इससे पहले भी उत्तर प्रदेश में मासूमों के साथ दरिंदगी के कई मामले  सामने आ चुके हैं। अभी हाल ही में उन्नाव मामला सामने आया था, जिसने इंसानियत के मुंह पर कालिख पोत दी थी। 

जानकारी के अनुसार, यह मामला उत्तर प्रदेश के हसनपुर जिले के ​तहत झिंझाना थाने का है। पुलिस ने बताया कि आरोपी गोकुलदास की उम्र 25 साल है। उसने आठ साल की बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाना चाहा, लेकिन समय रहते बच्ची के दादा ने देख लिया और शोर मचाकर आरोपी को पकड़ लिया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, बच्ची के दादा—दादी खेत में काम कर रहे थे और बच्ची उनसे कुछ दूरी पर खेल रही थी। आरोपी गोकुलदास वहां से गुजरा और बच्ची को खेलता देख उसकी नीयत डोल गई। उसने आस—पास देखा और किसी को न देख बच्ची को खेत में धकेल दिया। गोकुलदास ने जैसे ही बच्ची को अपना शिकार बनाना चाहा, तो बच्ची के दादा ने उसे देख लिया। दादा ने आरोपी को पकड़कर उसे रोका, इस पर आरोपी ने दादा से मारपीट की। शोर सुनकर आस—पास के लोग इकट्ठे हो गए और आरोपी को पकड़ लिया। घटना से नाराज ग्रामीणों ने आरोपी की बुरी तरह से पिटाई कर दी और उसे पुलिस के हवाले कर ​दिया। 

हसनपुर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने न्यूजट्रैकलाइव से बातचीत में बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। आरोपी को आईपीसी की धारा 354 के तहत गिरफ्तार किया गया है। उस पर पॉस्को एक्ट के तहत भी चार्ज लगाए गए हैं। 

दाती महाराज का पॉटेंसी टेस्ट किया जा सकता है

दिन दहाड़े छेड़खानी करने घर में घुसे युवक का लोगों ने किया ऐसा हाल

क्राइम ब्रांच पूछताछ में रो पड़े दाती महाराज