कल 8 तो आज 4 ढेर ! छत्तीसगढ़ और झारखंड में 'लाल आतंक' का सफाया जारी

कल 8 तो आज 4 ढेर ! छत्तीसगढ़ और झारखंड में 'लाल आतंक' का सफाया जारी
Share:

रायपुर: सुरक्षा बलों और नक्सली विद्रोहियों के बीच चल रहे संघर्ष में एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में, झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले में आज सोमवार को एक मुठभेड़ के दौरान चार नक्सली मारे गए। पुलिस ने मौतों की पुष्टि की और घटनास्थल से हथियार और गोला-बारूद बरामद होने की सूचना दी। ये वामपंथी उग्रवादी लाल आतंकी के नाम से कुख्यात हैं, जिनकी कम्युनिस्ट विचारधारा अब चरमपंथ में तब्दील हो चुकी है पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि किसी भी शेष खतरे को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए क्षेत्र में तलाशी अभियान अभी भी जारी है।

यह मुठभेड़ सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हाल ही में हुई मुठभेड़ों की श्रृंखला के बाद हुई है। शनिवार को सुरक्षा बलों ने छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में आठ नक्सलियों को मार गिराकर उल्लेखनीय जीत हासिल की। ​​मारे गए लोगों में से छह की पहचान पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी (PLGA) की सैन्य कंपनी नंबर 1 और माड डिवीजन सप्लाई टीम के वरिष्ठ रैंक के कैडर के रूप में की गई। इन उच्च रैंक के नक्सलियों के सिर पर कुल 48 लाख रुपये का नकद इनाम था, जो नक्सल पदानुक्रम के भीतर उनके महत्व को रेखांकित करता है। मुठभेड़ों में हालिया उछाल 23 मई को शुरू हुआ, जब नारायणपुर-बीजापुर सीमा पर सात नक्सली मारे गए। इसके बाद 5 जून को एक और मुठभेड़ हुई, जिसमें नारायणपुर में छह और नक्सली मारे गए।

ये ऑपरेशन भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा नक्सली नेटवर्क को खत्म करने की एक व्यापक रणनीति का हिस्सा हैं, जो भारत के कई हिस्सों में लंबे समय से विद्रोह और हिंसा के लिए जिम्मेदार है। नक्सली, जिन्हें माओवादी भी कहा जाता है, साम्यवादी समाज की स्थापना की मांग करते हुए राज्य के खिलाफ सशस्त्र विद्रोह कर रहे हैं। उनकी गतिविधियों में सुरक्षा बलों पर हमले, बुनियादी ढांचे को नष्ट करना और जबरन वसूली करना शामिल है।

सुरक्षा बलों की हालिया सफलताओं को नक्सली आंदोलन के लिए एक महत्वपूर्ण झटका माना जाता है, जिससे उनकी कमान संरचना बाधित हुई है और उनकी परिचालन क्षमताएं कम हुई हैं। हालांकि, तलाशी अभियानों की निरंतरता यह संकेत देती है कि खतरा अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है, और शेष विद्रोहियों को जड़ से खत्म करने के प्रयास जारी हैं। 

EVM पर एलन मस्क के ट्वीट से मचा घमासान, केंद्रीय मंत्री और राहुल गांधी का भी आया बयान

फर्जी वीडियो और डीपफेक पर लगेगी लगाम ! मानसून सत्र में डिजिटल इंडिया बिल ला सकती है सरकार

गौतस्कर सुफियान ने पुलिस पर की फायरिंग, जवाबी कार्रवाई में पाँव में लगी गोली, हुआ गिरफ्तार

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -