स्पेन में लॉकडाउन के बाद भी मौत का सिलसिला जारी

स्पेन में लॉकडाउन के बाद भी मौत का सिलसिला जारी

मैड्रिड: एक तरफ बढ़ रहा कोरोना का कहर अब इतना बढ़ चुका है. कि हर तरफ केवल तवाही का मंज़र देखने को मिल रहा है. जंहा अब तक इस वायरस से मरने वालों कि संख्या 19,000 से अधिक हो चुकी है. वहीं अभी भी लोगों में इस वायरस का खौफ फैला हुआ है. वहीं कोरोना की महामारी के चलते पिछले 24 घंटे में स्पेन में 738 लोगों की मौत हुई है. इस तरह स्पेन में मृतकों की संख्या 3,434 हो गई है. चीन में यह आंकड़ा फिलहाल 3,281 है. सूत्रों की माने तो अब तक इटली में सबसे ज्यादा 6820 मौतें हुई हैं जबकि 69,176 लोग संक्रमित हैं. स्पेन का यह हाल तब है जब वहां पर पिछले 11 दिनों से लॉकडाउन है. देश में संक्रमितों की संख्या 47,610 हो गई है. 

सबसे ज्यादा प्रभावित है मैड्रिड: मिली जानकारी के अनुसार महामारी से सबसे ज्यादा स्पेन की राजधानी मैड्रिड प्रभावित है. वहां पर संक्रमित लोगों की संख्या 14,957 है. यह कुल संक्रमित व्यक्तियों की संख्या का एक तिहाई है. मैड्रिड में होने वाली मौतों की बात करें तो अभी तक 1,825 लोगों की जान जा चुकी है. यह देश में हुई कुल मौतों का 53 फीसद है. कोरोना के टेस्ट में तेजी आने के बाद संक्रमित लोगों की संख्या अकेले मंगलवार को 20 फीसद का उछाल देखा गया. जबकि इसी अवधि में मृतकों की संख्या में 27 फीसद की वृद्धि देखी गई.

लॉकडाउन कितना कारगर जल्‍द हो जाएगा साफ: जंहा यह भी कहा जा रहा हैं कि इमरजेंसी कोआर्डिनेटर फर्नाडो साइमन ने कहा कि हम महामारी से होने वाले प्रभावों के शिखर पर पहुंच रहे हैं. स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि यह जल्द ही स्पष्ट हो जाएगा कि लॉकडाउन का महामारी से लड़ने में कितना फायदा हो रहा है. रोगियों के मुकाबले स्पेन में अस्पतालों की कमी भी देखी जा रही है. इससे निपटने के लिए सेना ने मैड्रिड एक्जीबिशन सेंटर में बड़ा फील्ड हॉस्पिटल बनाया है. इस हॉस्पिटल में 1,500 बेड हैं, जिसे 5,500 बेड तक बढ़ाया जा सकता है.

आखिर क्यों पूरी तरह लॉकडाउन नही चाहते ट्रंप ?

ब्राजील : राष्ट्रपति के ऐलान में नही दिखा कोरोना वायरस का डर

कोरोना वायरस की दहशत में इस दिग्गज बांग्‍लादेशी नेता को मिली जेल से रिहाई