बिना सरकार की मदद से यहां के लोगों ने बना दिया एक करोड़ की लागत का पुल

असम से एक दिल खुश करने वाली और हिम्मत देने वाली खबर सामने आई है. आमतौर आपने सभी ने देखा होगा कि हम लोग सरकार को दोष देते-देते नहीं थकते है. लेकिन खुद कुछ नहीं करते अरे ये सरकार ही बेकार है. ऐसे डायलॉग मारते रहते हैं. पर कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने दम पर कुछ भी करने का जज्बा रखते हैं. वो बस अपना काम करते हैं, डायलॉगबाजी नहीं करते. असम के कामरुप जिले का ऐसा ही एक मामला है. यहां के गांववालों ने खुद से फंड जोड़कर एक पुल बना दिया. वो भी बिना कोई सरकारी मदद के.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जलजली नदी पर यह पुल बनाया गया है. इस पुल को बनाने में 1 करोड़ रुपये खर्च हुए. जो 7000 गांववालों ने फंड के तौर पर दिए थे. लकड़ी का यह पुल बिना सरकार की मदद से बनाया गया है. इस 335 मीटर के पुल को बनाने के लिए 10 गांव के लोगों ने फंड दिया. लगभग 7000 लोगों ने यह पैसा दिया. खबरों के अनुसार, इसका काम साल 2018 में शुरू हुआ था.

बता दें की मानसून में नदी का जलस्तर काफी बढ़ जाता है. ऐसे में इस पुल के सहारे लोग एक गांव से दूसरे गांव जा सकते हैं. बच्चे पढ़ाई करने के लिए अपने स्कूल जा सकते हैं. तमाम बाधाओं को इस पुल ने दूर कर दिया है. ऐसा नहीं है कि असम से इस तरह की खबर पहली दफा आई है. जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले भी दिहामलाई के इलाके में गांववालों ने मिलकर एक पुल का निर्माण किया था. यह पुल चार गांवों को आपस में जोड़ता है. ये भी गांववालों ने खुद ही बनाया था. सरकार की ओर से इसमें भी कोई मदद नहीं की गई थी. Aching Zeme जोकि एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं.  

आनंदी बेन को बनाया जाए गुजरात का सीएम , थम जाएंगे कोरोना के मामले - सुब्रमण्यम स्वामी

एक ऐसा रहस्मय शख्स,जो जहां भी जाता वहां बारिश होने लगती

जब इस बच्ची ने डॉग के साथ खेली छुपन छुपाई, वायरल हो रहा है ये मजेदार वीडियो

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -