अफ़ग़ानिस्तान में धार्मिक प्रताड़ना झेल रहे 700 और सिख आएँगे भारत, सरकार कर रही तैयारी

Aug 02 2020 09:59 AM
अफ़ग़ानिस्तान में धार्मिक प्रताड़ना झेल रहे 700 और सिख आएँगे भारत, सरकार कर रही तैयारी

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) बनने के बाद अफगानिस्तान में धार्मिक प्रताड़ना का शिकार हुए लगभग सात सौ और सिखों को भारत लाने की तैयारी चल रही है. इन सिखों को कई जत्थों में भारत लाया जाएगा. बीते 26 जुलाई को 11 सिखों का पहला जत्था भारत आया था.  उस समय हवाई अड्डे पर भाजपा नेताओं ने पहुंचकर सभी का जमकर स्वागत किया था. 

इन सिख परिवारों को दिल्ली में गुरुद्वारे में रुकवाया गया है. दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी सभी के रहने का प्रबंध देख रही है. भाजपा के सरदार आरपी सिंह ने शनिवार को कहा कि, "पहला जत्था आने के बाद अभी अफगानिस्तान से लगभग सात सौ और सिखों ने आने की इच्छा जाहिर की है. अफगानिस्तान में भारतीय दूतावास ने ऐसे सिखों से लगातार संपर्क बना रखा है. सभी सिखों को हिंदुस्तान लाने की तैयारी है. अफगानिस्तान में रहने वाले इन अधिकतर सिखों के सगे-संबंधी तिलक नगर में रहते हैं. ऐसे में इनके रहने आदि का प्रबंध करने में कोई दिक्कत आने वाली नहीं है."

सरदार आरपी सिंह ने कहा कि पीएम मोदी के साहसिक फैसले के कारण ही अफगानिस्तान में प्रताड़ना के शिकार सिख बंधुओं का आगमन मुमकिन हो सका है. यदि नागरिकता संशोधन कानून नहीं बनता तो फिर पड़ोसी मुल्कों में धार्मिक प्रताड़ना के शिकार, हिंदू, सिखों आदि को भारत में नागरिकता नहीं मिल पाती.

यरूशलेम के पीएम पर भड़के लोग, कर रहे विरोध प्रदर्शन

भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्तल बोले- टेलीकॉम सेक्टर पर से टैक्स घटाए सरकार

इस महीने से आपकी सैलरी में होगी ज्यादा कटौती, आज से बदल गया ये नियम