राजस्थान में हनुमान मंदिर के 70 वर्षीय पुजारी की हत्या, आरोपी फरार

जालोर: राजस्थान के जालोर जिले में अज्ञात हत्यारों ने सोमवार (29 नवंबर 2021) की रात हनुमान मंदिर की कुटिया में सो रहे एक पुजारी को मार डाला। पुलिस के मुताबिक, हमलावर चोरी के इरादे से मंदिर में घुसे थे और पुजारी पर चाकू व सरिया से हमला कर उनका क़त्ल कर दिया। घटना देर रात 2 बजे की है। बुजुर्ग पुजारी के चीखने के पर जब स्थानीय लोग मौके पर पहुँचे तो घटना का पता चला। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुँची और घायल पुजारी को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया था। 

उपचार के दौरान मंगलवार (30 नवंबर 2021) की सुबह पुजारी ने दम तोड़ दिया। मृतक पुजारी बीते 30 वर्षों से कुटिया में रह रहे थे। फिलहाल पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर आरोपितों की खोजबीन शुरू कर दी है। मामला जालोर जिले में बागोड़ा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले धुंबडिया गाँव का है। एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, धुंबडिया गाँव के रहने वाले नेनूदास वैष्णव (70) बीते 30 सालों से हनुमान मंदिर में सेवा कर रहे थे और कुटिया बनाकर वहीं रहा करते थे। 

पुलिस के अनुसार, हर दिन की तरह सोमवार को भी वह पूजा करने के बाद सो गए थे। रात 2 बजे के लगभग चोरी के इरादे से कुछ बदमाश कुटिया में घुस आए, जिसे पुजारी ने देख लिया। इसके बाद बदमाशों ने पुजारी को ना केवल लात-घूँसों से मारा-पीटा, बल्कि चाकू और सरिये से भी हमला किया। घटना के बाद से कुटिया में रखा दानपात्र भी गायब है। इस मामले में DSP (भीनमाल) शंकर लाल ने बताया कि पोस्टमॉर्टम कराने के बाद पुजारी के शव को परिवार के सुपुर्द कर दिया गया। वहीं, आरोपितों को पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमें गठित कर दी गई हैं। फिलहाल आरोपितों की तलाश में पुलिस जगह-जगह छापेमारी कर रही है। जालोर पुलिस ने बताया कि उक्त घटना की सूचना पर CO भीनमाल, थानाधिकारी बागोड़ा व थानाधिकारी भीनमाल द्वारा घटनास्थल पर पहुँचे।

दूसरी शादी करने जा रहा था युवक, फेरों के वक़्त आ धमकी पहली पत्नी और फिर...

यूपी में लव जिहाद का सनसनीखेज मामला, पीड़िता ने 4 सालों तक झेली यातना

महाराष्ट्र से 40 अवैध बांग्लादेशी गिरफ्तार, सबके पास भारत के आधार और पैन कार्ड

Most Popular

- Sponsored Advert -