मोदी सरकार के कार्यकाल में 8 उग्रवादी संगठनों के 644 काडर ने किया सरेंडर - अमित शाह

मोदी सरकार के कार्यकाल में 8 उग्रवादी संगठनों के 644 काडर ने किया सरेंडर - अमित शाह

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को डेस्टिनेशन नॉर्थ ईस्ट 2020 फेस्ट का शुभारंभ किया। इस अवसर पर गृह मंत्री ने कहा कि पूर्वोत्तर के बगैर भारत और भारतीय संस्कृति अधूरी है। भारतीय संस्कृति की तब तक पूरी तरह से कल्पना नहीं की जा सकती जब तक उसमें पूर्वोत्तर की संस्कृति को शामिल नहीं कर लिया जाता।

अमित शाह ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों की संस्कृति भारतीय संस्कृति का आभूषण है। उन्होंने बताया कि मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान आठ उग्रवादी संगठनों के तक़रीबन 644 काडर ने सरेंडर किया है। अमित शाह ने आगे कहा कि, 'इकॉनमी, पर्यटन और रोजगार पर ध्यान केंद्रित करने के लिए पूर्वोत्तर में शांति सुनिश्चित करना बेहद अहम था। पिछले 6.5 वर्षों में पूर्वोत्तर- जो कभी उग्रवाद, हिंसा, भारत बंद कि वजह से समाचारों में छाया रहता था। अब उसकी चर्चा विकास, उद्योगों, जैविक खेती और स्टार्टअप के लिए होती है।'

अमित शाह ने कहा है कि नरेंद्र मोदी सरकार के दौरान आठ उग्रवादी संगठनों के तक़रीबन 644 काडरों ने सरेंडर किया है। उन्होंने कहा है कि, 'कई मुद्दे जो काफी समय से चले आ रहे थे, जैसे भारत-बांग्लादेश भूमि सीमा समझौता, मणिपुर नाकाबंदी को ख़त्म करना, ब्रू-रींग समझौता, बोडो समझौता, आठ उग्रवादी संगठनों के करीब 644 काडर द्वारा सरेंडर, ये सब नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा किया गया है।'

आज नीतीश कुमार से मुलाकात के उपरांत JDU में शामिल होंगे बिहार के DGP

तेजस्वी यादव का बड़ा चुनावी ऐलान- सत्ता में आए तो एक साथ 10 लाख नौकरी देंगे

बाबा रामदेव बोले- चीलम पीने वाले साधू नहीं हो सकते, हर नशेड़ी को मिले सजा