फीस न भरे जाने के कारण 60 छात्रों ने दी आत्महत्या की धमकी

Feb 03 2016 02:45 PM
फीस न भरे जाने के कारण 60 छात्रों ने दी आत्महत्या की धमकी

पटना : देश में एक छात्र द्वारा आत्महत्या किए जाने के बाद से कोहराम मचा हुआ है, ऐसे में यदि 60 छात्र आत्म हत्या की धमकी दे तो सवाल उठना लाजिमी है। बिहार के 60 दलित छात्रों ने उस वक्त आत्म हत्या की धमकी दी जब भुवनेश्वर स्थित राजधानी इंजीनियंरिंग कॉलेज से इन सभी छात्रों को निकाला गया। कहा जा रहा है कि कॉलेज प्रशासन ने कई बार बिहार सरकार को इन छात्रों के फीस भरे जाने को लेकर नोटिस भेजा, लेकिन बिहार सरकार ने अब तक फीस की भरपाई नहीं की है।

इसी कारण कॉलेज ने उन्हें बाहर कर दिया। ये सभी छात्र मोतिहारी और बेतिया जिले से है और कॉलेज व हॉस्टल से बाहर भगाए जाने के बाद ये सभी अपने घर लौट आए है।

साल 2014 में बिहार सरकार की दलित छात्रवृति योजना के तहत 60 छात्रों ने इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लिया था। बीते डेढ़ सालों से सरकार ने एक पैसा भी कॉलेज को नहीं चुकाया है। छात्रों का कहना है कि बिहार सरकार ने उनकी अनदेखी की है। कॉलेज प्रशासन ने करीब एक साल तक उनके पढ़ने और रहने-खाने का खर्च उठाया लेकिन उसके बाद हाथ खड़े कर लिए।

बिहार सरकार की योजना के मुताबिक, इन छात्रों को हर साल एक लाख 10 हजार रुपये दिए जाने थे। इस कारण ये छात्र सेमेस्टर एग्जाम का फॉर्म भी नही भर पाए। इस मामले पर जब बिहार सरकार से पूछा गया तो सरकार ने अपनी गलती स्वीकारते हुए कहा कि पैसा जारी करने में थोड़ देरी हुई है।

जल्द इसे सुलझाया जाएगा। उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने छात्रों से कोई भी ऐसा कदम न उठाने की अपील की है। दूसरी ओर एससी-एसटी मिनिस्टर संतोष निराला ने कहा कि पैसे भेजने में देरी इसलिए हुई क्योंकि छात्रों की ओर से दिए गए बैंक अकाउंट में गड़बड़ी थी।