ISIS ने बच्चो के सामने 6 सैनिकों के किये सिर कलम

Apr 18 2015 02:00 AM

आतंकियों का कहना है कि इन सैनिकों ने एक कार बम विस्फोट कर कई मासूमों की जान ली है, इसलिए उन्हें मौत की सजा दी गई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हालिया कत्लेआम को सीरियाई शहर अल मयादिन में अंजाम दिया गया है। यह शहर इस्लामिक स्टेट के नियंत्रण में है। तस्वीरों में से पता चलता है कि इस नृशंस हत्या को देखने के लिए इस्लामिक स्टेट ने अपने समर्थकों को मजबूर किया था। भीड़ में कम उम्र के बच्चे भी शामिल हैं। 

खबरों के मुताबिक, आतंकियों ने सभी सैनिकों की परेड कराई। फिर लकड़ी के एक प्लेटफॉर्म के पास ले जाकर धारधार हथियार से एक-एक की हत्या कर दी। इससे पहले आतंकियों के कमांडर ने अरबी भाषा में मौत का फरमान सुनाते हुए कहा, "जो भी मुसलमानों का खून बहाएगा, उसका अंजाम यही होगा।" लंदन आधारित मिडल ईस्ट फोरम के रिसर्चर अयमन जवाद अल तामिमी ने आतंकी द्वारा बोले गए अरबी भाषा का अंग्रेजी में अनुवाद किया है। 

अयमन के मुताबिक, आतंकी कमांडर भीड़ से कहता है, "जैसा कि अल्लाह ने कहा है मुसलमानों का खून बहाने वालों का सिर धड़ से अलग कर दो।" गौरतलब है कि अल मयादिन शहर ISIS के उन दो ठिकानों में से है, जहां उसने रिक्रूटमेंट ऑफिस खोल रखा है। सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के मुताबिक, इस साल जनवरी से मार्च 23 तक ISIS अब तक 400 बच्चों की भर्ती कर चुका है।