5 मई सुबह की बड़ी ख़बरें

शत्रु-सिन्हा दोनों डीएमके के करीब 
कल शुक्रवार को बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन से मिले. इस दौरान दोनों नेताओं ने डीएमके अध्यक्ष और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री करुणानिधि से भी मुलाकात की. ये दोनों अन्य डालो के नेताओ से भी लगातार मुलाकात कर रहे है. बातचीत की फोटो ट्वीट करते हुए स्टालिन ने लिखा, 'मौजूदा राजनीतिक माहौल में इन दोनों नेताओं से सकारात्मक मुलाकात हुई, शुक्रगुजार हूं इनका क्योंकि दोनों नेताओं को करुणानिधि की सेहत के बारे में पता किया.'

कर्नाटक चुनाव प्रचार अधूरा छोड़ यूपी क्यों लौटे योगी 
उत्तर प्रदेश में आये भीषण तूफान के कारण के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपना कर्नाटक दौरा छोड़ दिया है. शुक्रवार रात आंधी तूफान ने सूबे में कोहराम मचाया जिसका सबसे ज्यादा असर आगरा पर हुआ है. चुनाव प्रचार के लिए योगी कर्नाटक के दौरे पर थे. उत्तर प्रदेश में तूफान से 73 लोगों की मौत और भारी नुकसान के बीच विपक्ष के वॉर जारी हो गए थे. इस पर प्रमुख सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने कहा, 'आंधी-तूफान से प्रभावित आगरा जनपद में संचालित राहत कार्यों तथा इस आपदा से हुए नुकसान की सीधी जानकारी प्राप्त करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार रात्रि में आगरा पहुंचेंगे.'

आज से अखिलेश किसी भी सदन के सदस्य नहीं  
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शनिवार को आधी रात के बाद से किसी भी सदन के सदस्य नहीं होंगे. 5 मई को उनका कार्यकाल उत्तर प्रदेश की विधानसभा में खत्म हो रहा है और अब अखिलेश यादव एक आम राजनीतिक कार्यकर्ता की तरह हो जाएंगे. अखिलेश ने सन् 2000 में कन्नौज से राजनीति में कदम रखा था. इसके बाद से ऐसा पहली बार होगा के वि किसी भी सदन में नहीं होंगे. 

हम और हमारे पूर्वजों ने कभी जिन्ना को आदर्श नहीं माना- मौलाना मदनी 
 अलीगढ: AMU में जिन्ना की तस्वीर से उठे विवाद ने अलीगढ के हालत बेकाबू का दिए है और इलाके में धारा 144 लगा दी गई है साथ ही इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई है. इसी बीच एएमयू में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर प्रमुख मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने शुक्रवार को कहा कि जिन्ना को ‘हमारे पूर्वजों ने आदर्श नहीं माना था और द्विराष्ट्र के उनके सिद्धांत को ठुकरा दिया था और पाकिस्तान के संस्थापक को हम भी आदर्श नहीं मानते.’’

सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार के बीच तनाव जारी
सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार के बीच तनाव जारी है. जस्टिस मदन बी लोकुर और अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल के बीच इस बात को लेकर जमकर बहस जारी है कि जजों के खाली पदों पर नियुक्तियों के लिए कुछ ही नामों की सिफारिश क्यों कि गई. सरकार इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के कोलेजियम पर सवाल उठा रही है. मणिपुर के एक मामले की सुनवाई के दौरान जस्टिस लोकुर ने अटॉर्नी जनरल से पूछा कि फिलहाल हाई कोर्ट में जजों की नियुक्ति को लेकर कोलेजियम की कितनी सिफारिश पेंडिंग है? अटॉर्नी जनरल ने कहा कि मुझे ये जानकारी जुटानी होगी.

सलमान पर सुनवाई सात मई को 
करीब दो दशक पुराने काला हिरण शिकार प्रकरण में फिल्म अभिनेता सलमान खान को दोषी करार देते हुए पांच साल की सजा सुनाई थी. इसके साथ ही दस हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया था. अब काला हिरण शिकार प्रकरण में दोषी फिल्म अभिनेता सलमान खान को सुनाई गई पांच साल की सजा के खिलाफ सेशन कोर्ट में दायर अपील पर अगली सुनवाई सात मई को होगी. सुनवाई वाले दिन सलमान के पेशी पर आने की संभावना कम जताई जा रही है. सलमान की तरफ से हाजिरी माफी की अर्जी लगाई जा सकती है.

 

हम और हमारे पूर्वजों ने कभी जिन्ना को आदर्श नहीं माना- मौलाना मदनी

असम: पुलिस और उग्रवादियों की मुठभेड़, पुलिस अधिकारी शहीद

कर्नाटक चुनाव प्रचार अधूरा छोड़ यूपी क्यों लौटे योगी ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -